…जब आम दर्शक बन क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने देखा क्वार्टर फाइनल मुकाबला

क्रोएशिया की पहली महिला प्रेसीडेंट कोलिंडा ग्रेबर कित्रोविक वीवीआईपी होकर आम इंसान बने रहना पसंद करती हैं। विश्व कप में अपनी टीम का समर्थन करने के लिए जगारेब से सोची तक प्लेन की इकॉनोमी क्लास में आईं जबकि कई चार्टर प्लेन की व्यवस्था हो सकती थी। यही नहीं हवाई यात्रा के दौरान वह आम यात्रियों से न केवल घुली-मिलीं बल्कि उनके साथ सेल्फी भी खिंचवाईं।...जब आम दर्शक बन क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने देखा क्वार्टर फाइनल मुकाबला

क्वार्टर फाइनल में क्रोएशिया का रूस से मुकाबला था। कोलिंडा खासतौर से इस मैच के लिए आई थीं। उन्होंने टीम की जर्सी पहनकर वीवीआईपी बॉक्स की जगह आम दर्शक दीर्घा में बैठकर मैच देखा और आम समर्थकों का खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाती नजर आईं। क्रोएशिया इस मैच में पेनाल्टी शूटआउट में जीता और सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहा।

जीत के बाद क्रोएशियाई प्रेसीडेंट खिलाड़ियों की ड्रेसिंग रूम में गईं। उनके गले लगकर बधाई दी। उनके फाइनल में पहुंचने की शुभकामनाएं दी और वादा किया कि फाइनल में आने की कोशिश करेंगी। उन्होंने कहा कि मैं यह बतानी चाहती थी कि मैं हर क्रोएशियाई फुटबॉल प्रेमी की तरह मैं भी अपनी टीम को बेइंतहा प्यार करती हूं।

मेहमान टीम के राष्ट्रपति आए और वीवीआई बॉक्स में जगह न मिली ये तो मुमकिन ही नहीं है। लेकिन यह खुद कोलिंडा की मांग थी कि वह आम दर्शक दीर्घा में बैठकर मैच देखेंगी। उनका कहना था कि वीवीआईपी बॉक्स का अपना प्रोटोकॉल होता है। मुझे लांग गाउन पहनना पड़ता फिर मैं अपनी टीम की जर्सी कैसे पहनती और गोल होने पर वैसे लुत्फ नहीं उठा पाती जैसा आम दर्शक दीर्घा में उठाया।

Zovi, samo zovi, svi će sokolovi,Za te život dati! 🇭🇷❤️⚽️🥇

Gepostet von Kolinda Grabar-Kitarović am Samstag, 7. Juli 2018

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button