यहां 300 रुपये में बिकता है पानी, जानिए क्या हैं इसके पीछे की वजह…  

पानी कितना अनमोल, यह हरियाणा के अंतिम छोर पर स्थित भिवानी जिले के लोहारू क्षेत्र में समझ में आता है। यहां की मिट्टी रेतीली है और सिर्फ नहरी पानी की इसकी प्यास बुझा सकता है। यहां बोतलबंद पानी तो सस्ता है, लेकिन नहरी पानी बेहद महंगा। हालांकि, लोगों की जेब पर इसका कोई असर नहीं, सरकार नाममात्र का आबियाना लेकर बाकी सारा खर्च खुद उठाती है। बात राजस्थान सीमा से सटे सिवानी कैनाल उपमंडल की करें तो यहां नहरी पानी बोतलबंद पानी से प्रति लीटर दस-पंद्रह गुणा महंगा पड़ रहा है। पानी की बंद बोतल तो 20 रुपये में मिल जाएगी, लेकिन यहां के गांवों में एक लीटर नहरी पानी पहुंचाने की कीमत 200 से 300 रुपये बैठ रही है। हिसार से 61 फीट ऊपर उठाकर पानी सिवानी में पहुंचाया जा रहा है। इसके लिए 8 पंप हाउस विशेष रूप से बनाए गए हैं।

यहां के अनेक गांव राजस्थान से एक-दो किलोमीटर दूर हैं। इनकी सैकड़ों एकड़ रेतीली भूमि को सिर्फ और सिर्फ पानी की दरकार है। सरकार इस जमीन की प्यास बुझाने के लिए जुटी तो है, लेकिन पानी पहुंचाना इतना सस्ता नहीं। हिसार से सिवानी तक नहरी पानी ले जाने में करोड़ों की लागत आती है। जिसमें नई नहरों, माइनर, वाटर वर्क्स स्टाफ का वेतन, गाड़ियों पर आने वाला खर्च, बिजली खर्च, सड़कों व पुलों इत्यादि का निर्माण शामिल है।

राजस्थान से सटे गांवों में नहरें पहुंचाने के लिए छोटे पुल व नई सड़कें बनाने का जिम्मा भी सिंचाई विभाग पर ही है। विभाग ने बड़े पैमाने पर राजस्थान हो रही नहरी पानी की तस्करी को भी रोका है। सीमांत इलाकों के पानी तस्कर टैंकरों को नहरों से भरकर ले जाते थे और राजस्थान में 2 से 3 हजार रुपये में बेचते थे।

मरम्मत व नए निर्माण के बाद 300 क्यूसेक पानी पहुंचेगा 
सरकार पुरानी नहरों की मरम्मत के साथ ही नई नहरों, माइनर व वाटर वर्क्स का निर्माण करा रही है। सभी कार्य पूर्ण होने पर गर्मी में 300 क्यूसेक पानी खेतों तक पहुंचने लगेगा। अभी रिसाव के कारण पानी की काफी बर्बादी भी हो रही है। मोतीपुरा डिस्ट्रीब्यूटरी पर 12 करोड़, सिवानी कैनाल पर 20 करोड़, मिठी डिस्ट्रीब्यूटरी पर 10 करोड़, खिदनवा माइनर पर एक करोड़, ढाणी भाकरा पर 1.10 करोड़, इसरवाल सब माइनर पर 2.65 करोड़, सलीमपुर डिस्ट्रीब्यूटरी पर 3.45 करोड़ व नए वाटर वर्क्स बनाने पर 27 करोड़ की राशि खर्च की जा रही है। – मनोहर लाल, मुख्यमंत्री, हरियाणा  

शिकायतें मिलने पर चलवाया विशेष अभियान
राजस्थान के लिए हो रही पानी तस्करी की शिकायतें मिलते ही विशेष अभियान चलवाया। सरकार के संज्ञान में मामले को लाया गया है। एसडीओ कैनाल सिवानी ने थानों व चौकियों में रिपोर्ट दर्ज कराकर व छापे डलवा कर इस पर अंकुश लगवाया

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button