बिहार में चौथे चरण में मिली छूट तो बाजारों में उमड़ी लोगों की भीड़, लापरवाही पड़ सकती भारी

रामगढ़ (भभुआ)। देश भर में कोरोना के मामले में कमी के साथ पाजिटिविटी रेट कम होने के कारण बाजारों में दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है। जो कोरोना महामारी को आमंत्रण दे सकता है। चौथे चरण के लॉकडाउन की शुरुआत बाजार में चहल पहल के साथ हुई।

सब्जी, किराना व मेडिकल दूध फल की दुकान के अलावा अन्य सभी प्रतिष्ठान खुलने से बाजार की स्थिति देखते ही बन रही थी। भीड़ के कारण लोगों के पसीने छूट रहे थे। एक तो उमस भरी गर्मी तो दूसरी तरफ लोगों की बढ़ती भीड़ से कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं के बराबर हो रहा था। जिससे कोरोना संक्रमण के खतरे का अंदेशा बना रहता है। इतना सब कुछ होने के बाद भी अधिकतर लोग मास्क का प्रयोग नहीं कर रहे हैं। जो कुछ भी लगा रहे हैं तो वे केवल जांच के डर से वह भी मुंह के नीचे लटकाए रहते हैं। पुलिस प्रशासन के आने पर ये लोग मास्क ऊपर चढ़ाते हैं।

बाजार के दुकानों की स्थिति यह है कि कोई भी दुकानदार मास्क न लगाता है और न ही सैनिटाइज दुकान पर रख रहा है। बाजार में सड़क जाम की समस्या ऐसी हो गई है कि हर आधे घंटे पर दुर्गा चौक से बैंक ऑफ इंडिया तक सड़क जाम हो जा रहा है। एक साथ सभी दुकानों के खोलने से बाजार में भीड़ बढ़ गई है। कोई पुलिस कर्मी मास्क व सैनिटाइज को ले गंभीर नहीं दिखता। जबकि कोरोना का ग्राफ कम करने के लिए मास्क व सैनिटाइज के साथ दो गज की दूरी जरूरी है। इसका ध्वनि विस्तारक यंत्र से सरकारी गाडिय़ां प्रचार भी करती है। बावजूद इस दिशा में सकारात्मक पहल नहीं हो पा रही।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 1 =

Back to top button