दिल्ली पुलिस की बड़ी सख्त कार्रवाई, हिंसा में अब तक 46 लोगों की गई जान…

दिल्ली में हिंसा का दौर पूरी तरह थम चुका है,लेकिन कुछ ऐसे असामाजिक तत्व हैं, जो माहौल बिगाड़ने की कोशिश में लगे हैं। रविवार शाम को कुछ लोगों ने सोशल मीडिया के जरिये दिल्ली में बवाल की अफवाह फैलाई, लेकिन पुलिस ने जल्द ही हालात पर काबू पा लिया। वहीं, अफवाह फैलाने वालों पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है, इस बाबत पुलिस सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रख रही है। वहीं, उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 46 लोगों की मौत हो चुकी है, इनमें 38 लोगों की मौत जीटीबी में हुई है।

अफवाह फैलाई तो होगी सख्त कार्रवाई, दिल्ली पुलिस की सोशल मीडिया पर भी बारीक नजर

दिल्ली में हिंसा का दौर पूरी तरह थम चुका है,लेकिन कुछ ऐसे असामाजिक तत्व हैं, जो माहौल बिगाड़ने की कोशिश में लगे हैं। वहीं, अफवाह फैलाने वालों पर पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है, इस बाबत पुलिस सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रख रही है। वहीं, उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में अब तक 46 लोगों की मौत हो चुकी है, इनमें 38 लोगों की मौत जीटीबी में हुई है।

दिल्ली में फैली अफवाह के बाद गौतम गंभीर ने भी किया ट्वीट, शांति बनाएं लोग

अब तक 45 लोगों की मौत

उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर एक सप्ताह पूरे हो गए हैं और अब हालात सामान्य हैं। वहीं, रविवार देर शाम कुछ इलाकों में दंगों की अफवाह फैलाए जाने के चलते लोग परेशान रहे। सोशल मीडिया के जरिये फवाह फैलती गई, इसके बाद पुलिस ने भी सोशल मीडिया के जरिये अफवाह का खंडन किया। हालांकि एहतियातन पूरी दिल्ली में चौकसी बढ़ी दी गई। आठ मेट्रो स्टेशनों पर यात्रियों के प्रवेश और निकास पर रोक लगा दी गई। लेकिन, 15 मिनट बाद ही हालात सामान्य होने पर यात्रियों को प्रवेश व निकासी की सुविधा दे दी गई। अब तक हिंसा में 45 लोगों की जान जा चुकी है।

इसे भी पढ़ें: निर्भया के दोषी पवन की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई फिर टल सकती है फांसी…

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भी बोर्ड परीक्षा आज से

10वीं एवं 12वीं सीबीएसई बोर्ड की सोमवार को होने वाली परीक्षाएं उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भी आयोजित की जाएंगी। बता दें कि हिंसा के चलते इन इलाकों में बोर्ड परीक्षाएं रद कर दी गई थीं।

 

दिल्ली BJP नेता विजय गोयल ने कहा- सुनियोजित तरीके से फैलाई गई हिंसा

पूर्व केंद्रीय मंत्री और दिल्ली के दिग्गज भाजपा नेता विजय गोयल ने आरोप लगाया है कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा पूरी साजिश रचकर फैलाई गई। उन्होंने इस हिंसा की निष्पक्ष जांच की भी बात कही है। 

 

दंगा पीड़ितों का इहबास में होगा इलाज

उत्तर-पूर्वी जिले में हुई ¨हसा के दौरान मानसिक आघात से पीड़ित लोगों का इलाज करने के लिए इहबास को गुरु तेग बहादुर (जीटीबी) अस्पताल द्वाराअधिकृत किया गया है। हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में जन-जीवन सामान्य स्थिति की ओर बढ़ रहा है। लेकिन उन लोगों के दिमाग पर झड़पों ने गहरे निशान छोड़ दिए हैं, जिन्होंने अपनी आंखों के सामने हिंसा को देखा है। जीटीबी अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुनील कुमार ने बताया हिंसा में मानसिक आघात से पीड़ित लोगों की जांच और उनका इलाज मानव व्यवहार एवं संबद्ध विज्ञान संस्थान (इहबास) में किया जाएगा।

 

अनीस के परिवार को 10 लाख रुपये देगी ओडिशा सरकार

 25 फरवरी को दिल्ली स्थित खजूरीखास में हुई हिंसा में उपद्रवियों के एक समूह ने बीएसएफ में तैनात अनीस के घर को जला दिया था। कुछ ही दिन बाद बीएसएफ जवान मो. अनीस की शादी है, जो फिलहाल टाल दी गई है। अब ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सीएम राहत कोष से बीएसएफ कांस्टेबल अनीस को 10 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है। अनीस ओडिशा में नक्सल प्रभावित जिला मलकानगिरी में बीएसएफ की नौवीं बटालियन में कार्यरत हैं।

 

शाहीन बाग के आसपास लगी धारा-144

15 दिसंबर से चल रहे दक्षिण दिल्ली के शाहीन बाग इलाकों को लेकर पुलिस फिर सक्रिय हो गई है।संभावित बवाल के बाबत रविवार सुबह से ही शाहीन बाग के आस-पास के इलाके में धारा-144 लागू कर दी गई ताकि धरनास्थल के पास लोग इकट्ठा न हो सके और शांति व्यवस्था बनी रहे।

 

हिंसा के दौरान सक्रिय सोशल मीडिया के 40 संदिग्ध अकाउंट बंद

पुलिस जांच में पता चला है कि उत्तर-पूर्वी जिले में हुई 24-25 फरवरी की हिंसा में सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट भी जिम्मेदार रहे। जांच में खुलासा हुआ कि हिंसा के दौरान स्थानीय सहित देश के बाहर से भी कई अकाउंट से सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डाले जा रहे थे। इनमें वीडियो, चित्र और ऑडियो क्लिप शामिल है। पुलिस ने ऐसे में 40 संदिग्ध अकाउंट बंद करवा दिए हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button