उत्तराखंड: मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत पर नाराज हुए त्रिवेंद्र सिंह रावत…

उत्तराखंड में इन दिनों महाकुंभ का आयोजन हो रहा है और देशभर से श्रद्धालु देवभूमि में पहुंच रहे हैं. इस बीच कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर मौजूदा मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की राय अलग होती दिख रही है. नए मुख्यमंत्री ने महाकुंभ में आ रहे लोगों पर किसी तरह की पाबंदी ना होने की बात कही, तो पूर्व मुख्यमंत्री ने कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सख्ती बरतने की अपील की.

क्या बोले पूर्व मुख्यमंत्री?
दरअसल, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हरिद्वार में एक कार्यक्रम में कहा है कि देश में कोरोना वायरस के मामले एक बार फिर बढ़ रहे हैं, ऐसे में कुंभ में आ रहे लोगों को सभी नियमों का पालन करना चाहिए.

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि उनकी सरकार ने सभी सावधानियों को बरतते हुए और गहन चिंतन करने के बाद ही कुंभ के लिए गाइडलाइन्स जारी की थी. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी कोरोना संकट खत्म नहीं हुआ है और जो वैक्सीन आई है, अभी उसे लगवाने से लोग बच रहे हैं, ऐसे में हर तरह की सावधानी बरतनी होगी.

मौजूदा मुख्यमंत्री ने क्या कहा था?
दरअसल, मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद तीरथ सिंह रावत ने जब मीडिया से बात की, तो उन्होंने महाकुंभ को लेकर भी चर्चा की. साथ ही कहा कि कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं पर किसी तरह की पाबंदी नहीं होगी. साथ ही 72 घंटे की RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट दिखाना भी कोई जरूरी नहीं होगा. हालांकि, मुख्यमंत्री का कहना था कि राज्य में आने वाले हर व्यक्ति को सरकार की कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करना होगा.

नए मुख्यमंत्री ने कुंभ को लेकर अन्य भी कई फैसले लिए थे, जिनमें सभी शाही स्नानों का होना, हर की पौड़ी पर पुष्पवर्षा होना जैसी बातें शामिल की गई थीं. 

जबकि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बतौर मुख्यमंत्री कुंभ को लेकर सख्त गाइडलाइन्स बनाई थीं. जिनमें मेडिकल सर्टिफिकेट, कोरोना नेगेटिव सर्टिफिकेट, शाही स्नानों के दिन वीआईपी मूवमेंट पर रोक जैसे फैसले शामिल थे.

गौरतलब है कि विधायकों की नाराजगी, सरकार-संगठन में बन रही दूरी की शिकायतों के बाद भारतीय जनता पार्टी ने त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री पद से हटाकर तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया था. तीरथ सिंह रावत ने मुख्यमंत्री बनने के बाद पुराने मुख्यमंत्री के कई फैसले बदले साथ ही मंत्रिमंडल में भी बदलाव किया.

कुंभ पर केंद्र की भी नज़र
कुंभ को देखते हुए केंद्र सरकार की ओर से भी एक टीम उत्तराखंड भेजी जा रही है. 1 अप्रैल से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम उत्तराखंड में काम करेगी, जो कुंभ के दौरान कोरोना संकट और अन्य मेडिकल व्यवस्थाओं पर नजर रखेगी. इस खास टीम का फोकस कुंभ मेले के दौरान गाइडलाइन्स के पालन पर नज़र रखना होगा. 

500 के पार है एक्टिव केस की संख्या
अगर उत्तराखंड में कोरोना के मामलों की बात करें, तो यहां रोज आने वाले मामलों की संख्या 100 से कम ही है. लेकिन, लगातार नए केस आ रहे हैं. बीते पांच दिनों में उत्तराखंड में लगातार हर रोज 50 से अधिक कोरोना के केस दर्ज किए गए हैं. जबकि राज्य में अभी एक्टिव केस की संख्या 581 है. 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button