US Presidential Election: ट्रंप ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा जीत के करीब पहुंचे बाइडन…

हालांकि, अभी कई प्रमुख राज्यों में नतीजे आने बाकी हैं। वहीं, ट्रंप ने वोटों की गिनती पर सवाल उठाया है। इसके लिए ट्रंप सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, कल जहां हम जीत रहे थे, वहां अचानक पीछे कैसे हो गए। पिछली रात मैं मजबूती के साथ लीड कर रहा था। कई राज्यों में डेमोक्रेट ने मतगणना पर कंट्रोल किया। वहीं, बिडेन ने कहा है कि हमें पूरा भरोसा है कि जीत हमारी ही होगी। मगर ये सिर्फ हमारी अकेले की जीत नहीं होगी। यह जीत अमेरिकी लोगों की होगी, हमारे लोकतंत्र की होगी, अमेरिका की होगी। दूसरी तरफ, ट्रंप के चुनावी अभियान ने पेंसिल्वेनिया, मिशीगन और जॉर्जिया सरकार पर मुकदमा दायर किया है। इन राज्यों में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप अपने प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन से पीछे रह गए हैं।

राष्ट्रपति चुनाव की वोटों की गिनती जारी है। राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी की ओर सेवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन मैदान में हैं। बिडेन बहुमत के करीब पहुंच चुके हैं। 538 इलेक्टोरल वोट्स में से बहुमत के लिए 270 वोट्स की जरूरत है। फिलहाल, बिडेन के हिस्से 264 इलेक्टोरल वोट्स, जबकि ट्रंप के पास सिर्फ 214 वोट्स हैं। बिडेन बहुमत के आंकड़े (270) से सिर्फ 6 वोट्स दूर हैं।

हालांकि, अभी कई प्रमुख राज्यों में नतीजे आने बाकी हैं। वहीं, ट्रंप ने वोटों की गिनती पर सवाल उठाया है। इसके लिए ट्रंप सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, कल जहां हम जीत रहे थे, वहां अचानक पीछे कैसे हो गए। पिछली रात मैं मजबूती के साथ लीड कर रहा था। कई राज्यों में डेमोक्रेट ने मतगणना पर कंट्रोल किया। वहीं, बिडेन ने कहा है कि हमें पूरा भरोसा है कि जीत हमारी ही होगी। मगर ये सिर्फ हमारी अकेले की जीत नहीं होगी। यह जीत अमेरिकी लोगों की होगी, हमारे लोकतंत्र की होगी, अमेरिका की होगी। दूसरी तरफ, ट्रंप के चुनावी अभियान ने पेंसिल्वेनिया, मिशीगन और जॉर्जिया सरकार पर मुकदमा दायर किया है। इन राज्यों में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप अपने प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन से पीछे रह गए हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download

अमेरिकियों को मतदान प्रक्रिया में विश्वास होना चाहिए और संवैधानिक अधिकार है कि उनके विधिपूर्वक डाले गए मतपत्रों को गिना जाए। यह सरल प्रस्ताव अमेरिकी लोकतंत्र की आधारशिला है।

जॉर्जिया में जीत हासिल करना जरूरी:

ट्रंप के चुनावी अभियान के सलाहकार
ट्रंप के चुनावी अभियान के सलाहकार का कहना है कि उन्हें इस बात का विश्वास है कि वह इतने वोट हासिल कर लेंगे, जिससे की वह एरिजोना में जीत सकें। सलाहकार ने कहा, हम एरिजोना में जीत रहे हैं। लेकिन सलाहकार ने इस बात को रेखांकित किया कि जॉर्जिया में जीत हासिल करना ट्रंप के लिए बहुत जरूरी है। 

बैटलग्राउंट स्टेट जॉर्जिया को लेकर बिडेन के चुनावी अभियान अच्छा महसूस कर रहा
जो बिडेन के चुनावी अभियान के सलाहकार का कहना है कि वह जॉर्जिया को लेकर अच्छा महसूस कर रहे हैं। साथ ही एरिजोना और पेंसिलवेनिया को लेकर भी चिंता नहीं है, क्योंकि अभी वहां पर वोटों की गिनती जारी है। बिडेन के चुनावी अभियान को पता है कि जॉर्जिया में मिली जीत से बिडेन आसानी से अपने प्रतिद्वंद्वी ट्रंप से आगे निकल सकते हैं। 

जॉर्जिया के फुल्टन काउंटी में बाकी है 29 हजार मेल-इन बैलेट्स की गिनती
जॉर्जिया के फुल्टन काउंटी में 29 हजार मेल-इन बैलेट्स की गिनती बाकी है। काउंटी के चुनाव निदेशक रिचर्ड बैरन ने कहा, हम इस बात का ख्याल रखेंगे कि हर वोट की गिनती आज रात तक हो जाए, फिर हमें ऐसा करने में पूरी रात ही क्यों न लग जाए। उन्होंने कहा, मुझे इस बारे में पता है कि सभी की निगाहें जॉर्जिया पर टिकी हुई हैं, क्योंकि यहां से अगले राष्ट्रपति का निर्धारण हो सकता है। 

उपराष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार कमला हैरिस ने कहा, इससे फर्क नहीं पड़ता की ट्रंप क्या कहते हैं, हमें हर एक वोट की गिनती करानी चाहिए। कमला हैरिस ने कानूनी लड़ाई के मद्देनजर बिडेन के समर्थकों से आर्थिक मदद की अपील भी की है। 

अमेरिका में भारत की तरह चुनाव आयोग जैसी संस्था नहीं है। वहीं हर राज्य के अपने अलग कानून हैं, ऐसे में सभी राज्य इनका पालन करते हुए मतगणना करवाते हैं। यही वजह है वहां कौन जीता और किसे कितने वोट मिले इसकी आधिकारिक जानकारी सरकारी एजेंसी के मार्फत जारी नहीं होती। इसके बजाय फॉक्स न्यूज और एसोसिएटेड प्रेस जैसी समाचार संगठनों द्वारा जारी रुझानों से परिणाम का आकलन किया जाता है।  

ट्रंप के चुनावी अभियान ने पेंसिल्वेनिया, मिशीगन और जॉर्जिया सरकार पर मुकदमा दायर किया है। इन राज्यों में ट्रंप अपने प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन से पीछे रह गए हैं। ट्रंप के चुनावी अभियान ने यह भी कहा है कि वह विस्कॉन्सिन में दोबारा वोटों की गिनती करवाना चाहते हैं। 

बुधवार की दोपहर बिडेन ने डेलावेयर में कहा, जब वोटों की गिनती समाप्त हो जाएगी तो हमें विश्वास है कि हम जीतेंगे। उन्होंने कहा, मैं एक अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर शासन चलाऊंगा। राष्ट्रपति पद अपने आप में कोई पक्षपातपूर्ण संस्थान नहीं है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button