परमाणु समझौते से अमेरिका के हटने का देंगे जवाब: ईरान

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि परमाणु समझौते से अमेरिका के हटने का जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि ईरान की परमाणु एजेंसी इसके लिए अपेक्षित और अप्रत्याशित कदम उठाने के लिए पूरी तरह तैयार है।

रूहानी ने शनिवार को सरकारी टेलीविजन पर शनिवार को दिए भाषण में यह बात कही। हालांकि उन्होंने इस संबंध में की जाने वाली कार्रवाई का ब्योरा नहीं दिया। उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अगले महीने समझौते से अलग होने के संभावित फैसले का जिक्र किया।

रूहानी ने कहा कि उनकी सरकार अमेरिका के समझौते से हटने के बाद विदेशी मुद्रा बाजार में अस्थिरता को रोकना चाहती है। इसीलिए ईरान के केंद्रीय बैंक ने इस महीने बाजार पर नियंत्रण लगा दिया।

भारतीय महिला की अर्जी पर 30 दिन के भीतर हो फैसला: लाहौर हाईकोर्ट

गौरतलब है कि प्रतिबंध से राहत देने के एवज में ईरान, अमेरिका और दुनिया के पांच अन्य बड़े देशों ने समझौता किया था। ट्रंप ने इस समझौते को दुनिया के सबसे खराब समझौतों में एक बताया और इससे अलग होने की बात कही है।

जनवरी में उन्होंने ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी से अमेरिका द्वारा समझौते में पाई गड़बड़ियों पर सहमति जताने को कहा था। गुरुवार को अमेरिका के निरस्त्रीकरण राजदूत रॉबर्ट वुड ने कहा था कि अमेरिका समझौते से हटने की 12 मई की समय सीमा को लेकर यूरोपीय सहयोगियों से गहन चर्चा कर रहा है।

जबकि ईरान का कहना है कि जब तक अन्य पक्ष समझौते का सम्मान करेंगे, वह इससे जुड़ा रहेगा। लेकिन अमेरिका के हटने पर वह समझौते को तोड़ देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पाक ने की वर्ल्ड बैंक से शिकायत, कहा सिंधु जल संधि का उल्लंघन कर रहा भारत

पाकिस्तान के संयुक्त राष्ट्र मिशन के एक बयान