नवाज को नही मिली UN असेंबली में जगह; भरी सभा में हुए बेज्जत और फिर….

अफगानिस्तान ने UN असेंबली (यूनाइटेड नेशन की जनरल असेंबली) में पाकिस्तान की बखिया उधेड़ कर रख दी। देश के दूसरे उपराष्ट्रपति सरवर दानिश ने पाकिस्तान के पाखंड पर तीखा हमला बोला। उन्होंने यूएन की जनरल असेंबली को संबोधित करते हुए कहा कि दुनिया बखूबी जानती है कि तालिबान के नेता कहां रहते हैं।

नवाज को नही मिली UN असेंबली में जगह; भरी सभा में हुए बेज्जत और फिर....

UN असेंबली में नवाज की बोलती बंद, भागे सभा छोड़कर

दानिश ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवादियों के खिलाफ कोई ऐक्शन नहीं ले रहा है। अफगानिस्तान के इस हमले से पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की बोलती बंद हो गई है। इतना ही नहीं बढ़ते विरोध को देख उन्होंने सभा छोड़ दी और गेस्ट हाउस में आ गए। उन्होंने बुधवार को यूएन की जनरल असेंबली में कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए आतंकी बुरहान वानी को कश्मीर की आवाज करार दिया था।
पाकिस्तान के लिए अच्छे आतंकवादी और बुरे आतंकवादी
दानिश ने कहा कि अफगानिस्तान लगातार पाकिस्तान से आतंकियों के खिलाफ ऐक्शन के लिए कहता रहा है। उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान आतंकियों के लिए सुरक्षित पनाहगाह है। वह आतंकियों को सुरक्षित ठिकाना मुहैया कराता है और कार्रवाई के लिए हमेशा मुकरता रहा है। अफगानिस्तान में अमेरिकन यूनिवर्सिटी पर आतंकी हमले की साजिश पाकिस्तान में रची गई। पाकिस्तान आतंकवाद के प्रति दोहरा रवैया अपनाता है। वह अच्छे आतंकी और बुरे आतंकी में भेद करता है। जाहिर है इससे विश्व शांति को काफी नुकसान पहुंच रहा है।
अफगानिस्तान ने पाकिस्तान को सुनाई दो टूक
अफगानिस्तान ने पाकिस्तान को यूएन में तब बेनकाब किया है जब भारत इंटरनैशनल लेवल पर उसे अलग-थलग करने की कोशिश कर रहा है। बुधवार को ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कश्मीर में भारतीय सुरक्षा बलों के ऑपरेशन में मारे गए हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी को कश्मीर की आवाज बताया था। पिछले हफ्ते उत्तरी कश्मीर के उड़ी में आतंकियों ने इंडियन आर्मी बेस को निशाना बनाया था और इसमें 17 सैनिक मारे गए थे। इस हमले में पाकिस्तान का कनेक्शन सामने आया था।  
रब्बानी ने भी पाकिस्तान को सुनाया
इससे पहले बुधवार को अफगानिस्तान के विदेश मंत्री सलाहुद्दीन रब्बानी ने भी पाकिस्तान को निशाने पर लिया था। रब्बानी ने कहा था कि पाकिस्तान भारतीय खौफ से ग्रसित है और इसी वजह से वह आतंकियों को पनाह दे रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान जिस रास्ते पर है उसकी वजह इंडिया फोबिया है। रब्बानी ने कहा कि पाकिस्तान इतना डरा रहता है कि किसी पर भरोसा नहीं करता।
भारत के साथ अफगानिस्तान
पाकिस्तान को इंटरनैशनल लेवल पर अलग-थलग करने की रणनीति में अफगानिस्तान इंडिया के साथ है। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकियों को समर्थन देना बंद करे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकाना है और इसका अंत होना चाहिए। मंगलवार को इंडिया में अफगानिस्तान के राजदूत शईदा मोहम्मद अब्दाली ने कहा कि पाकिस्तान को अलग-थलग करने के मामले में वह भारत के साथ है। अब्दाली ने कहा कि पाकिस्तान के कारण साउथ एशिया की शांति खतरे में है।
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button