अब भारत से तुर्की की यात्रा करने वाले और इस देश से आने वाले यात्रियों को जमा करानी होगी अपनी आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट

भारत कोरोना संक्रमण को लेकर लगातार सतर्क हो रहा है। अब भारत से तुर्की की यात्रा करने वाले और इस देश से आने वाले यात्रियों को अपनी नकारात्मक आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट जमा करानी होगी। ऐसे यात्री जो 14 दिन के भीतर भारत में आए हैं उनके लिए यह निर्देश दिए हैं। इसके अलावा कहा गया है कि अगर कोई भी यात्री अपनी रिपोर्ट जमा करने में असमर्थ होता है तो उन्हें क्वारंटाइन किया जाएगा। नई दिल्ली में मौजूद तुर्की दूतावास की तरफ से यह ताजा बयान आया है।

जारी किए गए नियम के मुताबिक, अगर किसी भी शख्स ने कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लगवाया हो या फिर जानसन एंड जानसान वैक्सीन का एक डोज भी लगावाया हो तो उन्हें आरपीसीआर रिपोर्ट जमा कराने में छूट मिलेगी।

अगर कोई भी यात्री आपनी आरटीपीसीआर रिपोर्ट जमा कराने में असमर्थ होता है तो उसके निवास पर उसे क्वारटाइन किया जाएगा। 10वें दिन उसका आरटीपीसीआर टेस्ट किया जाएगा। साथ ही बताया गया है कि आरटीपीसीआर टेस्ट अगर नगेटिव होता है तो क्वारटाइन निरस्त कर दिया जाएगा। अगर टेस्ट पॉजिटिव होता है तो उनका इलाज होगा साथ ही सभी यात्रियों को गाइडलाइंस का अनुसरण करना होगा। अगर 10वें दिन कोई भी शख्स टेस्ट नहीं जमा करा पाते हैं तो उनका क्वारटाइन समय 14 दिन के लिए बढ़ा दिया जाएगा।

वहीं फिलीपींस ने भारत सहित अन्य 9 देशों के लिए यात्रा प्रतिबंध हटाने का निर्णय लिया है। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, संयुक्त अरब अमीरात, ओमान, थाईलैंड, मलेशिया और इंडोनेशिया के लिए यात्रा प्रतिबंध हटाएगा। यानी अब 6 सितंबर के बाद से इन 9 देशों से आने-जाने वाले यात्री आसानी से यात्रा कर पाएंगे। हालांकि, यहां पर कोरोना का डैल्टा वैरिएंट का प्रकोप अभी तक बरकरार है। राष्ट्रपति प्रवक्ता हैरी रोके ने इसकी जानकारी दी है। गौरतलब कि अप्रैल महीने में कोरोना के बढ़ते मामलों के देखते हुए फिलीपींस ने भारत सहित कई देशों की यात्रा पर प्रतिबंध लगाया था।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button