गुस्‍सा करने से होती है ये जानलेवा बीमारी, इन 5 टिप्‍स से करें कंट्रोल

- in हेल्थ

गुस्‍सा व्‍यक्ति की एक ऐसी प्र‍कृति है जो परिस्थितियों के मुताबिक दिमाग में उत्‍पन्‍न होती है। गुस्‍सा दूसरों के लिए बुरा हो या न हो लेकिन यह खुद के लिए बहुत ही खतरनाक हो सकता है। यह हमारे शरीर का सबसे बड़ा दुश्‍मन है। अगर आपको भी छोटी-छोटी बातों पर गुस्‍सा आ जाता है तो यह गंभीर बात है। इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। यह आपके और आपके परिवार के लिए बहुत जरूरी है। इसके लिए किसी अच्‍छे एक्‍सपर्ट की सलाह जरूरी लेनी चाहिए।गुस्‍सा करने से होती है ये जानलेवा बीमारी, इन 5 टिप्‍स से करें कंट्रोल

ऐसे पहचानें अपना गुस्‍सा  

गुस्‍से पर काबू तभी पाया जा सकता है जब आप उसकी पहचान कर पाते हो। जिनकी किसी वस्तु को प्राप्त करने की इच्छा ज्यादा तीव्र होती है। ऐसे लोगों को गुस्सा बहुत जल्दी आता है, वह जल्द ही धैर्य खो बैठते है। कुछ लोगों में  धैर्य की कमी, खाना जल्दी खाना, बैचेनी, काम-काज के दौरान चिड़चिड़ापन, गुस्से के दौरान खुद को नुकसान पहुंचाना आदि स्थितियां देखने को मिलती है।

ऐसे पाएं गुस्‍से पर काबू

  • गुस्से को काबू में करने का यह सबसे बेहतरीन तरीका माना जाता है जो काफी मुश्किल होता है। आप चुप रहे और कुछ भी ना बोले। इससे व्यक्ति गुस्सा आने की स्थिति से बच जाता है।
  • योग और ध्यान का सहारा लेना गुस्से पर काबू पाने के लिए लिहाज से काफी फायदेमंद होता है। इसलिए रोजाना ध्यान करने से गुस्से पर हमेशा के लिए काबू पाया जा सकता है। ध्यान से एक व्यक्ति का जीवन शांत और संतुलित हो जाता है और गुस्से पर काबू पा लेता है।
  • जहां भी लड़ाई या गुस्से की स्थिति बन रही हो आप उस जगह से तुरंत हट जाए। इससे व्यर्थ विवाद नहीं होगा और आप गुस्से से भी बच जाएंगे। विवाद या बहस की स्थिति में उस जगह पर रहना क्रोध का कारण बन जाता है।
  • गुस्‍से पर काबू पाने के लिए अपनी आंखों और कानों को बंद कर ले। इससे ये होगा कि लड़ाई जिन कारणों से भी हो रहा है उसे आप ना तो सुन पाएंगे और ना ही देख सकेंगे। इसलिए आपको गुस्सा बिल्कुल भी नहीं आएगा।

गुस्‍से का शरीर पर होता है बुरा असर

वैज्ञानिकों द्वारा किए गए अध्‍ययनों के मुताबिक, क्रोध आने पर मस्तिष्क में ऐसे रासायनिक तत्व बनते हैं, जिनका शरीर और मन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। आंखें लाल हो जाती हैं तथा हार्ट में जलन हो सकती है। ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। आक्रामक भावनाएं उत्पन्न होती हैं। सोच-समझने की शक्ति कमजोर हो जाती है। तनाव बढ़ता है। लगातार क्रोध करने से पाचन तंत्र कमजोर होता है, जिससे एसिडिटी, कब्ज, भूख नहीं लगना जैसे रोग हो सकते हैं। क्रोध से नींद नहीं आती, जिससे पूरे स्वास्थ्य पर बुरा असर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

शरीर में खून की कमी को पूरा करता हैं ये आहार

अगर किसी व्यक्ति के शरीर में खून की