1 मई से युवाओं के टीकाकरण को लेकर आई ये बड़ी खबर, टाला जा सकता हैं…

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने तबाही मचा दी है। बीते कई दिनों से रोजाना तीन लाख से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं, जिसके बाद से लोग डरने भी लगे हैं। एक तरफ सरकार कोरोना के नए मामलों को रोकने का प्रयास कर रही है, तो दूसरी ओर वैक्सीनेशन अभियान को भी तेज कर रही है। सरकार ने बीते दिनों एक मई से 18 साल से अधिक उम्र वालों के लिए टीकाकरण अभियान का ऐलान किया है। हालांकि, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पहली मई से युवाओं के टीकाकरण पर ग्रहण के आशंका है। टीकों की आपूर्ति में देरी के चलते कोरोना से प्रभावित बड़े राज्यों महाराष्ट्र, राजस्थान और छत्तीसगढ़ ने टीकाकरण टाल दिया है। हालांकि, राहत की बात है कि एक मई से रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी भी इस्तेमाल के लिए उपलब्ध होगी।

महाराष्ट्र में पाबंदियां बढ़ीं
महाराष्ट्र ने कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर पाबंदियां 15 मई तक बढ़ा दी हैं। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि लॉकडाउन जैसी पाबंदियां बढ़ने और टीकों की पर्याप्त खुराकों की अनुपलब्धता के चलते एक मई से युवाओं का टीकाकरण नहीं हो सकेगा। भारत बायोटेक ने हर माह 10 लाख जबकि सीरम इंस्टीट्यूट ने एक करोड़ खुराक देने की बात कही है। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में कोविड के 63,309 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4,473,394 हो गई। 985 और लोगों की जान जाने के बाद अभी तक राज्य में संक्रमण की वजह से 67,214 लोगों की मौत हो चुकी है। 

राजस्थान में 45 वालों को ही टीका
राजस्थान सरकार ने कहा है कि केंद्र की ओर से उन्हें परस्पर टीकों की आपूर्ति नहीं मिल रही है, ऐसे में एक मई से भी 45 से अधिक उम्र वाले लोगों को ही टीका लगेगा। अभी इस श्रेणी के एक करोड़ लोग टीका नहीं लगवा पाए हैं।

सीरम ने राज्यों के लिए दाम घटाए
सीरम इंस्टीट्यूट ने अपनी वैक्सीन कोविशील्ड के दाम घटा दिए हैं। राज्यों को अब यह 400 की बजाय 300 रुपये प्रति खुराक में मिलेगी।

टीकाकरण अभियान पर ग्रहण को इस तरह समझें 

राज्यों ने गिनाईं मजबूरी
राजस्थान: सरकार ने कहा, सीरम इंस्टीट्यूट को 3.75 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है, लेकिन ये कब तक मिलेंगे साफ नहीं है। केंद्र से मिलने वाली वैक्सीन भी लगातार नहीं आ पा रही है।

महाराष्ट्र: स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा, टीकों की कमी के कारण अभियान शुरू करना मुश्किल है। सीरम और भारत बायोटेक की ओर से जवाब नहीं मिला है। लॉकडाउन भी वजह।

छत्तीसगढ़: भारत बायोटेक ने जुलाई तक वैक्सीन देगा। जबकि सीरम से वैक्सीन को लेकर जवाब नहीं मिला।

असम : सरकार ने टीकाकरण टालने के संकेत दिए हैं। उनके पास ढाई लाख टीके ही बचे हैं।
तेलंगाना: टीकाकरण के लिए डेढ़ लाख खुराक बची हैं। ऐसे में युवाओं को टीके समय से नहीं लग सकेंगे।

कर्नाटक : सरकार ने 18 से अधिक उम्र के लोगों को टीकाकरण का काम एक सप्ताह आगे बढ़ने के संकेत दिए है।
तमिलनाडु : सरकार ने प्रधानमंत्री का पत्र लिखकर टीके की पर्याप्त डोज उपलब्ध कराने का आग्रह किया है।

कोविन, अरोग्य सेतु ऐप का सर्वर अटका
18 साल से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण के पंजीकरण शुरू हो गए हैं। शाम चार बजे पंजीकरण शुरू होते ही कोविन, आरोग्य सेतु ऐप क्रैश हो गए। कुछ समय बाद सेवा बहाल हुई।

टीके के दामों को लेकर सियासत भी
केंद्र व राज्य सरकारों के लिए कंपनियों द्वारा अलग-अलग कीमत तय करने पर सियासत शुरू हो गई है। पंजाब, राजस्थान, झारखंड, छत्तीसगढ़ केंद्र पर सौतेले व्यवहार का आरोप लगा चुके हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button