फिर गाजा पर गरजे इजराइल के लड़ाकू विमान, 201 फलस्तीनियों को किया ढेर…

इजरायल के लड़ाकू विमान सोमवार तड़के गाजा पट्टी इलाके में फिर गरजे और आतंकी संगठन हमास के ठिकानों को निशाना बनाया गया। हवाई हमले में टनल और हमास के ठिकानों पर जमकर बमबारी की गई। यह टनल आतंकियों के लिए पनाहगाह थी। इजरायली सेना ने बताया कि हमास की 15 किलोमीटर लंबी टनल और इसके नौ कमांडरों के घरों को उड़ा दिया गया। हमास के एक शीर्ष कमांडर को भी ढेर कर दिया गया।

गाजा पट्टी पर शासन करने वाले हमास और इजरायल के बीच दस मई से संघर्ष चल रहा है। इस इलाके में सोमवार को किया गया हवाई हमला सबसे भीषण बताया जा रहा है। एक दिन पहले गाजा सिटी में किए गए हवाई हमले में 42 लोगों की मौत हुई थी और तीन इमारतें ध्वस्त हुई थीं। हालांकि ताजा हवाई हमले में हताहतों के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिली है। 

इजरायली सेना ने बताया कि उत्तरी गाजा के विभिन्न इलाकों में हमास के शीर्ष कमांडरों के नौ घरों को निशाना गया। इसके कमांडर हुसाम अबू हरबीद को मार गिराया गया। वह इजरायली नागरिकों के खिलाफ कई आतंकी हमलों के लिए जिम्मेदार था।

इजरायल के ताजा हवाई हमले में गाजा सिटी में एक तीन मंजिली इमारत ध्वस्त हो गई लेकिन इसमें रहने वाले लोगों ने बताया कि हमले से पहले ही इमारत को खाली कर दिया गया था। अलजजीरा टीवी ने गाजा के मेयर याहया सराज के हवाले से बताया कि हवाई हमले में सड़कों और दूसरे ढांचों को काफी नुकसान पहुंचा है। अगर संघर्ष इसी तरह चलता रहा तो स्थिति खराब हो सकती है।

इजरायल और हमास के बीच संघर्ष शुरू होने के बाद से अब तक हजारों की संख्या में एक-दूसरे पर रॉकेट दागे जा चुके हैं। इजरायली सेना ने बताया है कि वह हमास के ठिकानों को निशाना बना सैकड़ों हवाई हमले कर चुकी है। जबकि गाजा की ओर से इजरायल में 3,100 से अधिक रॉकेट दागे गए।

गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, अब तक के हमले में 58 बच्चों और 35 महिलाओं समेत 201 फलस्तीनियों की मौत हुई है। इधर, इजरायल में एक पांच वर्षीय बच्चे और एक सैनिक समेत आठ लोगों की जान गई है।

इजरायल और हमास के बीच छिड़े संघर्ष को बंद कराने के भी प्रयास चल रहे हैं। दोनों में संघर्ष विराम के लिए अमेरिका से लेकर संयुक्त राष्ट्र तक प्रयास कर रहा है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और मुस्लिम देशों के विदेश मंत्रियों ने हिंसा रोकने की मांग को लेकर बैठक की।

वहीं अमेरिकी विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन ने कहा, ‘हम संघर्ष खत्म कराने के लिए कूटनीतिक प्रयास कर रहे हैं।’ ब्लिंकन ने यह भी बताया कि उन्होंने गाजा में उस इमारत पर हमले के औचित्य को लेकर इजरायल से पूछा है, जिसमें समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस और अलजजीरा समेत कई मीडिया संस्थानों के दफ्तर थे। इजरायली हवाई हमले में इस इमारत को निशाना बनाया गया था। एसोसिएटेड प्रेस ने स्वतंत्र जांच की मांग की है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button