ग्रामीणों के लिए योगी सरकार तैयार कर रही हैं ये खास प्लान, मिलेगा भरपूर… 

गोवंशों से ग्रामीण जीवन आसान बनाने के लिए पहले पायलट प्रोजेक्ट के लिए प्रयागराज जिले की ग्राम सभा मंदरदेह मार्फी को चुना गया है। यहां खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा 0.573 हेक्टेयर में बहुउपयोगी गोबर गैस प्लांट की स्थापना का काम शुरू किया गया है। महज 3.32 करोड़ की लागत से बनने वाले इस प्लांट से बड़ी संख्या में ग्रामीण परिवारों को घरेलू गैस ईंधन, गांव को बिजली, वाहनों को चलाने के लिए गैस सिलेंडर और जैविक खेती के लिए जैविक खाद मिलेगी। 5000 गोवंशों के गोबर पर इस पायलट प्रोजेक्ट को ड्राफ्ट किया गया है।

उ.प्र. खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड पायलट प्रोजेक्ट की सफलतापूर्वक स्थापना और संचालन के बाद राज्य के अन्य जनपदों में इस प्रोजेक्ट को बड़ी संख्या में शुरू करेगा। 

लघु उद्योग निगम कानपुर बनाएगा यह प्लांट
उ.प्र. लघु उद्योग निगम कानपुर ने 720 क्यूविक मीटर गैस उत्पादन के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट प्रस्तुत की थी। जिसमें इस बात का जिक्र  है कि गैस के साथ ही प्रतिदिन करीब 5.4 टन जैविक खाद का उत्पादन भी होगा। प्लांट से उत्पादित गैस से 400 घरों को ईंधन गैंस मिलेगा। बायोगैस से बिजली का उत्पादन भी होगा। परियोजना की लागत 3.32 करोड़ रुपये प्रस्तावित थी। शुक्रवार को काम शुरू करने के लिए बजट भी दे दिया गया। इससे प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप में 200 लोग रोजगार से जुड़ेंगे।   
 
प्रदेश के अन्य जिलों में भी इस तरह के प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया जाएगा। पायलट प्रोजेक्ट ग्रामीणों को इस बात के लिए भी प्रोत्साहित करेगा कि वह खुद ही इस तरह के प्लांट लगाएं। गोवंशों से गांवों का विकास कैसे हो सकता है यह जनता के सामने आएगा। डा. नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव खादी एवं ग्रामोद्योग  

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty + three =

Back to top button