बच्ची की कराई जाएगी काउंसलिंग

कलेक्टर श्रीवास्तव ने यह भी बताया कि अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद किसी वरिष्ठ मनोचिकित्सक से बच्ची की काउंसलिंग भी करायी जाएगी, ताकि वह दुष्कर्म के सदमे से जल्द से जल्द उबरकर सामान्य जीवन जी सके.

फूल बेंच कर पिता करते हैं गुजारा

बीते 26 जून को गैंगरेप पीड़ित इस स्कूली छात्रा के पिता मंदसौर में फूल बेचते हैं. पीड़ित बच्ची मंदसौर से करीब 200 किलोमीटर दूर इंदौर के शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय (एमवायएच) में 27 जून की रात से भर्ती है. सामूहिक बलात्कार पीड़ित बच्ची के पिता ने यह भी कहा कि वह अपनी संतान के एमवायएच में जारी इलाज से संतुष्ट हैं.

एमवायएच में हो रहा बेटी का सही इलाज

पीड़ित बच्ची के पिता ने अपने बेटी को बेहतर इलाज के लिए किसी अन्य अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत से इंकार करते हुए कहा, “एमवायएच में मेरी बेटी के इलाज के लिये बाहर से भी डॉक्टर आ रहे हैं. मेरी बेटी का अच्छा इलाज यहीं (एमवायएच में) हो जाएगा. उम्मीद है कि दो-चार दिन में उसकी हालत और सुधरेगी.”