‘पत्नी’ के विग से खुला राज, चोरी करने के लिए बुजुर्ग के घर घुसे थे ये दंपत्ति

- in अपराध, राष्ट्रीय

आजकल जहां हमारे चारों ओर मौजूद सभी चीजों का आधुनिकरण होता जा रहा है, वहीं अब चोर भी अपने चोरी करने के तरीकों में बदलाव ला रहे हैं। चौंक गया न आप, जी हां ये बिल्कुल सही है, क्योंकि तमिलनाडू की राजधानी चैन्नई में चोरों ने चोरी करने का जो अनोखा आइडिया लगाया उसे देखकर आप भी यही कहेंगे। हालांकि अपनी तगड़ी प्लानिंग के बावजूद भी ये चोर चोरी करने में कामयाब नहीं हुए और पकड़े गए। इसके बाद इनके साथ जो हुआ ये हम आपको आगे बताते हैं, लेकिन उससे पहले जान लेते हैं कि आखिर ये पूरा माजरा क्या है।

‘पत्नी’ के विग से खुला राज, चोरी करने के लिए बुजुर्ग के घर घुसे थे ये दंपत्तितमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के टी नगर इलाके में जीएन चेट्टी रोड पर 74 साल के डॉ. राधाकृष्णन और उनकी पत्नी अकेले रहते हैं। अपने मकान के कुछ कमरे और दुकान उन्होंने किराए पर भी दे रखे हैं। अचानक एक दिन किराए का कमरा देखने के लिए एक दंपत्ति राधाकृष्णन के घर आते हैं। जैसे ही राधाकृष्णन ने उन्हें घर के अंदर बुलाया, वैसे ही उस दंपत्ति ने राधाकृष्णन के सिर पर वार किया और उन्हें बेहोश कर दिया। आवाज सुनकर जैसे ही राधाकृष्णन की पत्नी कमरे में पहुंचती है। वो दंपत्ति उन्हें भी घायल करने की कोशिश करते हैं। लेकिन तब तक कमरे से तेज आवाज सुनकर पड़ोसी वहां पहुंच जाते हैं। लोगों को आता देख दोनों ही वहां से भागने की कोशिश करने लगते हैं, लेकिन वो अपने मंसूबे में सफल नहीं हो पाए। पड़ोसियों ने जैसे ही उन दंपत्ति को पकड़ने की कोशिश की, कि चोर की पत्नी के बाल उनके हाथों में आ गया। जी हां, वो दंपत्ति यानी कि पति- पत्नी नहीं बल्कि दो लड़के ही थे। पत्नी के वेश में वो भी लड़का ही था।

पड़ोसियों ने पहले तो दोनों ही चोरों की जमकर धुनाई की और फिर उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस की पूछताछ में ये पकड़े गए युवकों ने बताया कि उनमें से एक लड़के का नाम एम. सुजंत है और दूसरे का नाम पी. प्रकाश। सुजंत पहले राधाकृष्णन के घर में कान करता था, तभी ठीक से काम न करने की वजह से राधाकृष्णन ने उसे काम से निकाल दिया था। जिसके बाद अपनी बेइज्जती का बदला लेने के लिए सुजंत ने ये बात अपने दोस्त प्रकाश को बताई। प्रकाश पेशे से सिविल इंजीनियर है। इसके बाद दोनों ने मिलकर लूट का प्लान बनाया। हालांकि राधाकृष्णन सुजंतको पहचानते थे, इसलिए वो लड़की बनकर वहां आया था।

पुलिस अब जांच करने की कोशिश कर रही है कि क्या इन दोनों ने पहले भी ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया है। सुजंत और प्रकाश दोनों ही दिण्डीगुल इलाके के रहने वाले हैं। फिलहाल पुलिस ने दोनों ही आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। वैसे भी महाभारत में कहा गया है कि बदला लेने की भावना से अच्छा है कि लोग अपनी गलतियों को ढूंढे और उसे दूर करने की कोशिश करें। क्योंकि बदले की भावना से सिर्फ और सिर्फ आपका नुकसान ही होता है। जैसा कि यहां आरोपी सुजंत के साथ हुआ। अगर सुजंत ने भी उस वक्त राधाकृष्णन की बात को समझकर अपने अंदर बदलाव किए होते, तो शायद उसे ये दिन न देखना पड़ता।

You may also like

महिलाओं के बुर्का पहनने को लेकर ये देश कर रहा हैं बैन लगाने की तैयारी

स्विट्जरलैंड में सेंट गालेन के मतदाताओं ने रविवार को