शादी समारोह में मछली के एक पीस के लिए हुआ खूनी संग्राम, मौके पर पहुंची पुलिस

गोपालगंज जिले के भोरे थाना अंतर्गत एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां समारोह में मछली के मुड़ा (मछली का सिर) के लिए जमकर मारपीट हुई है। इस मारपीट की घटना में 11 लोग जख्मी हो गए हैं। मामला जिले के भोरे थाना क्षेत्र के सिसई टोला भटवलिया का है। जहां गुरुवार की रात भोज में मछली का सिर मुड़ा नहीं परोसने की वजह से खूनी झड़प हो गई। 

इस घटना में दोनों पक्षों के 11 लोग घायल हुए जिन्हें इलाज के लिए भोरे रेफरल अस्पताल और सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाद दोनों पक्षों में तनाव व्याप्त हो गया है। वहीं, पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों के घायलों का अलग-अलग फर्द बयान दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। 

जानकारी के अनुसार गुरुवार की रात भोरे थाना क्षेत्र के सिसई टोला भटवलिया में छठू गोंड के यहां बारात आई थी। शादी-समारोह में खिलाने के लिए मछली-चावल का इंतजाम किया गया था। सदर अस्पताल में इलाज कराने पहुंचे जख्मी सुदामा गोंड के अनुसार उनका बेटा राजू गोंड और मुन्ना गोंड मछली सर्व कर रहे थे। 

इसी बीच पड़ोसी अजय गोंड और अभय गोंड अपने जानने वाले मेहमानों को लेकर आए और उन्हें खिलाने के लिए बैठा दिया। खाने के लिए बैठे लोगों को पहले राउंड में दो-दो पीस मछली दिया गया। जिसके बाद मछली के सिर यानी मुड़ा की मांग की गई। मछली का सिर नहीं दिए जाने पर राजू गोंड और मुन्ना गोंड की पिटाई की जाने लगी। 

इस बीच छठू गोंड समेत अन्य लोग पहुंचे, तब तक दोनों पक्ष के बीच कुर्सियां चलने लगीं। बरात में खाने को लेकर हुए इस झड़प में एक पक्ष से अजय गोंड, अभय गोंड, राजा गोंड, हीरा लाल गोंड, सुदामी देवी और दूसरे पक्ष से सुदामा गोंड, मुन्ना गोंड,अमित गोंड, राजू गोंड और सरली देवी घायल हो गए हैं। 

पड़ोसियों की मदद से एक पक्ष के घायलों को रेफरल अस्पताल भोरे और दूसरे पक्ष के घायलों को सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। इस घटना के बाद बारात में अफरा-तफरी मच गयी। स्थानीय थाने की पुलिस को इसकी सूचना दी गयी। तथा प्रबुद्ध लोगों की पहल पर दोनों पक्ष के झड़प को शांत कराया गया। 

शुक्रवार की सुबह इलाज कराने के बाद घायलों ने स्थानीय थाने में कार्रवाई के लिए शिकायत की। इस मामले में हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार का कहना है कि पुलिस दोनों पक्ष के मामले की जांच कर रही है। अलग-अलग बयान दर्ज कर प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है। 

लगभग एक माह पूर्व उचकागांव थाने के नरकटिया गांव में आठ मई को आई बारात में मुर्गे के पीस के साथ लिट्टी नहीं परोसने पर गोली चल गई थी।  जिसमें राजेंद्र सिंह नामक व्यक्ति की मौत हो गयी थी। जबकि तीन लोग घायल हो गए थे।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − eleven =

Back to top button