बाइक न मिलने पर दूल्हे ने शादी से किया इंकार, लोगों ने बनाया बंधक

- in उत्तरप्रदेश

आधुनिक तथा शिक्षित समाज के बीच भी दहेज की बात के कारण आज ताजनगरी में विवाह का माहौल खराब हो गया। दहेज में बाइक नहीं मिली तो दुल्हे ने विवाह से इंकार दिया। इसके बाद जब उसको बरातियों के साथ बंधक बनाया गया तब दुल्हन की विदाई हुई।

बाइक न मिलने पर दूल्हे ने शादी से किया इंकार, लोगों ने बनाया बंधक

भले ही आज के समाज में दहेज को अभिशाप माना जाता हो पर बिना दहेज के किसी गरीब की बेटी का विवाह अब भी एक सपने जैसा ही लगता है। आगरा के रकाबगंज के काजिपाड़ा में मथुरा से बरात आई थी, लेकिन यहां पर दुल्हा दहेज में बाइक लेने की जिद पर अड़ गया। इसके बाद लड़की पक्ष के लोगों ने दूल्हे को बंधक बना लिया। वहां पर माहौल बिगड़ता देखे बराती दूल्हे को छोड़कर भाग निकले। इनमें दूल्हे का पिता भी था।

वधू पक्ष के लोगों ने दुल्हे के साथ उसके उसके जीजा व ताऊ को बंधक बना लिया। इसके बाद दुल्हे को अपनी गलती का अहसास हो गया। वह वहां से दुल्हन को विदा कराने को राजी हुआ। इसके बाद भी लड़की के परिवार के लोग दुल्हे के पिता को बुलाकर लिखा पढ़ी कर दुल्हन देने को राजी हुए। इस बवाल में दुल्हन की विदाई देर शाम तक हो पाई।

दहेज का यह आगरा के थाना रकाबगंज के काजीपाड़ा का है। यहां पर मथुरा के छटीकला से सूरज पुत्र पूरन बारातियों के साथ काजीपाड़ा की तारा के साथ ब्याह करने बरात लेकर आया था। सूरज मथुरा के अस्पताल में 12 हजार रुपये की नौकरी करता है। तारा के पिता का निधन हो चुका है और उसकी मां दूसरों के घर पर काम करती है जबकि भाई जूते के सोल बनाने का काम करता है। रात हंसी खुशी विवाह हो गया था। जब सुबह दुल्हन के विदा होने का समय आया तो दूल्हा और दूल्हे के परिवार के लोग दहेज में महंगी बाइक की मांग करने लगे। इन दोनों के विवाह तय होने के समय दहेज में बाइक देने की बात नही हुई थी। तारा के घर वालों बाइक को छोड़कर अन्य सारा सामान जैसे टीवी, फ्रिज, कूलर के साथ अन्य सामान दिया था।

यूपी: एनकांउटर का खौफ, लेकिन अब भी बड़े अपराधियों का कोई पता नहीं

 

इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। थाना रकाबगंज पुलिस पहुंच गयी। इतने दबाव में दुल्हा विदाई को तैयार हो गया पर फिर लड़की वालो ने इनकार कर दिया। लड़की पक्ष ने शर्त रख दी की जब लड़के का पिता आकर लिखा पढ़ी में लड़की की सुरक्षा और भरण पोषण की जिम्मेदारी लेगा तभी विदाई होगी।

 

दुल्हे के फोन पर दुल्हा के पिता पूरन मथुरा से दोबारा आगरा आया और लिखा पढी में बहु ले जाने को तैयार हुआ तब जाकर दुल्हन की विदाई की तैयारिया होना शुरू हुई। इस सम्बन्ध में तारा की माता शान्ति ने बताया की शादी हो चुकी थी। तब दुल्हा अचानक जिद कर रहा था। अब हमने पूरी लिखा पढी के बाद दुल्हन विदा की है अब हमारे बीच कोई विवाद नही है।

इस सम्बन्ध में सीओ सदर उदय राज सिंह ने बताया की काजी पाड़ा में शादी के समय लड़का व लड़की पक्ष में विवाद हुआ था। बाद में उनमे सुलह हो गयी थी। दोनों पक्ष में से किसी ने कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है। कोई शिकायत आई तो निश्चय ही कार्यवाही की जायेगी। 

You may also like

वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग कर रही महिला ने बस में लगाई आग

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग को लेकर