यूपी: एनकांउटर का खौफ, लेकिन अब भी बड़े अपराधियों का कोई पता नहीं

पुलिस से नहीं क्राइम से डर लगता है साहब’। अब यह बात कई जगहों पर सुनने को मिल रही है। दरअसल, इस लाइन को यूपी पुलिस ने ट्वीट किया है। यूपी पुलिस की इस लाइन में अपराधियों का खौफ साफ तौर पर दिखाई भी दे रहा है। पुलिस का यह ट्वीट उस वक्‍त सामने आया है जब शामली जिले के कैराना में जमानत पर जेल से छूटकर आए दो बदमाश भाइयों ने एसपी से मिलकर उन्हें शपथपत्र सौंपते हुए विश्वास दिलाया कि वे दोनों अब अपराध से तौबा कर चुके हैं। यह खबर मीडिया की सुर्खियां बनी। इसके बाद पुलिस का ट्वीट यह बताने के लिए काफी है कि बीते एक वर्ष के दौरान प्रदेश में आई नई सरकार ने जो संगठित अपराध को रोकने के लिए कदम उठाए हैं वह कहीं न कहीं कारगर साबित हो रहे हैं।

दूल्हा करता रहा फेरों का इंतजार, उधर प्रेमी संग दुल्हन हुई फरार

यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ प्रदेश में हो रहे एनकाउंटर पर खुलकर बोलते हुए भी दिखाई देते हैं। उन्‍होंने इस बात को कई बार कई मंचों से दोहराया है कि प्रदेश से या तो अपराधी भाग जाएंगे, नहीं तो खत्‍म हो जाएंगे। उनके इस बयान की एक झलक सरकार द्वारा पेश किए गए एनकाउंटर के आंकड़ों में भी दिखाई देती है। गौरतलब है कि 20 मार्च 2017 से लेकर 31 जनवरी 2018 तक प्रदेश में 1142 एनकाउंटर हुए। इनमें 38 अपराधी मारे गए, जबकि 2744 अपराधी गिरफ्तार हुए। इसके अलावा इन एनकाउंटर में 265 आम लोग भी घायल हुए और 247 पुलिसकर्मी भी थे। सीएम योगी ने एनकाउंटर के ताजा आंकड़े बताते हुए इनकी संख्‍या 1200 बताई है। उन्‍होंने साफ कर दिया है कि प्रदेश में एनकाउंटर बंद नहीं होंगे।

 

You may also like

कानपुर के विवादित शेल्टर होम सुभाष चिल्ड्रेन से 3 बच्चे हुए लापता, जिला प्रशासन हैरान

कानपुर की विवादित एनजीओ सुभाष चिल्ड्रेन शेल्टर होम