भागते हुए लुटेरों का गिर गया बैग, शिकायत के लिए बुलाई पुलिस और खुद पकड़े गए

20 मिनट के गैप में एक ही वारदात से जुड़ी दो पीसीआर कॉल ने पुलिस वालों को हैरान कर दिया। कुछ ही घंटे के बाद पूरे मामले का जो खुलासा हुआ, उससे सीनियर पुलिस अफसर भी सकते में आ गए। मालूम चला कि एक पीसीआर उस शख्स ने की थी, जिससे लूट की वारदात करके लुटेरे भागे। दूसरी पीसीआर कॉल लुटेरे ने कर दी क्योंकि भागते वक्त बैग वहीं पर गिर गया। जिसे पीड़ित शख्स उठाकर अपने घर ले आया। पुलिस ने दोनों शातिर लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की पहचान 25 साल के चेतन कुमार और 25 साल के अर्जुन सिंह के रूप में हुई है। अर्जुन बॉडी बिल्डिंग कर ‘मिस्टर दिल्ली’ रह चुका है। वहीं चेतन भी डीयू से ग्रेजुएशन करने के बाद मोबाइल शोरूम में जॉब कर रहा है।

भागते हुए लुटेरों का गिर गया बैग, शिकायत के लिए बुलाई पुलिस और खुद पकड़े गए

डीसीपी चिन्मय बिश्वाल के मुताबिक, शनिवार देर रात को न्यू फ्रेंड्स कालोनी इलाके में माता मंदिर के पास स्कूटी सवार दो बदमाशों ने कामोद यादव से उनका महंगा मोबाइल झपट लिया। लेकिन बदमाशों का एक बैग स्कूटी से गिर गया। कामोद ने पीसीआर कॉल की। बाद में उसने पुलिस को अपनी शिकायत के साथ बदमाशों का बैग भी सौंप दिया। इधर आरोपियों को मोदी मिल के पास पहुंचने पर पता चला कि बैग तो वहीं रह गया।

वायरल वीडियो: स्कूल की इन लड़कियों ने सड़क पर की खुल्लम-खुल्ला ऐसी शर्मनाक हरकत देखकर उड़ गए सबके होश…

इनमें एक बैग में आरोपी चेतन के ऑफिस का टैबलेट, आईकार्ड और टिफन बॉक्स था। चेतन ने अर्जुन से बात कर बैग चोरी होने की पीसीआर कॉल कर दी। चेतन वहीं घटनास्थल पर पहुंचा। अर्जुन मोदी मिल के पास खड़ा रहा। कामोद की कॉल पर पहुंची पुलिस बैग की तलाशी ले ही रही थी कि चेतन की कॉल पर पहुंची पुलिस ने उसे भी वहीं रोक लिया। नाम, पता पूछने पर पुलिस चौंक गई। पूछताछ में सारा भेद खुल गया। चेतन के दूसरे साथी को मोदी मिल से दबोच लिया गया। उसके पास से कामोद का मोबाइल भी बरामद हो गया।

अर्जुन ने बताया कि वह परिवार के साथ खानपुर इलाके में रहता है। बचपन से उसे बॉडी बिल्डिंग का शौक था। इसी शौक की वजह से 2016 में फिटनेस एथलेटिक कैटिगरी में मिस्टर दिल्ली रहा है। चेतन उसके बचपन का दोस्त है। वह लाजपत नगर में एक मोबाइल शोरूम में सेल्स बॉय था। दोनों को अपने खर्चे पूरी करने के लिए रुपयों की जरूरत होती थी। इसीलिए दोनों लुटेरे बन गए।

 
Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button