60 हजार करोड़ रुपये से अधिक की ठगी के मामले में ईओडब्ल्यू की टीम करीब 300 बैंक खातों का जुटा रही ब्योरा

60 हजार करोड़ रुपये से अधिक की ठगी के मामले में शाइन सिटी इंंफ्रा प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक के भाई आसिफ नसीम की गिरफ्तारी के साथ ही जांच कर रही आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा (ईओडब्ल्यू) टीम करीब 300 बैंक खातों का ब्योरा जुटा रही है। इसके साथ ही आसिफ के सहारे सहयोगियों तक पहुंचने के प्रयास में ईओडब्ल्यू जुट गई है।

शाइन सिटी इंफ्रा प्रोजेक्ट कंपनी के मालिकों व अधिकारियों के खिलाफ रीयल एस्टेट में निवेश का झांसा देकर अरबों रुपये की ठगी का मुकदमा दर्ज है। इसमें 285 खाते उन निवेशकों के हैं, जिन्होंने प्रयागराज के सिविल लाइंस थाने में शिकायतें की थीं। साथ ही 15 खाते आरोपितों के हैं, जिसमें रकम जमा कराई गई थी। इससे पूर्व टीम आरोपितों की करीब 500 करोड़ रुपये की संपत्तियां चिह्नित कर चुकी है।

प्रयागराज के दो भाइयों ने बनाई थी कंपनी

प्रयागराज के करेली के जीटीबी नगर निवासी राशिद नसीम व उसके भाई आसिफ नसीम ने वर्ष 2013 में लखनऊ में शाइन सिटी इंफ्रा प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड नाम से कंपनी बनाई थी। देश भर में लोगों को आशियाना देने का ख्वाब दिखाकर अरबों रुपये जमा कराए थे। तीन वर्ष पूर्व आरोपित राशिद दुबई चला गया था। इसके बाद निवेशकों की रकम फंसी तो उन्होंने मुकदमे लिखवाने शुरू किए थे। प्रयागराज में जार्ज टाउन नई बस्ती निवासी प्रकाशचंद्र तिवारी की ओर से वहां के सिविल लाइंस थाने में दर्ज मुकदमे की जांच आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा (ईओडब्ल्यू) कानपुर यूनिट कर रही है।

आसिफ से साहयोगियों तक पहुंचने की तैयारी

ईओडब्ल्यू के अधिकारियों ने बताया कि आरोपित कंपनी मालिक आसिफ नसीम के पकड़े जाने के बाद अब उसके बाकी सहयोगियों का पता लगने की उम्मीद है। आसिफ के साथ ही मुख्य आरोपित राशिद व अन्य सहयोगियों की संपत्तियां कई शहरों में हैं। उनके दस्तावेज जुटाए जा रहे हैं। एक टीम प्रयागराज में है। वहां मुकदमे के वादी व अन्य पीडि़तों व आरोपितों के बैंक खातों का ब्योरा जुटाया जा रहा है। इसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

पांच हजार से ज्यादा मुकदमे

आसिफ के खिलाफ देशभर में पांच हजार से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं, इसमें लखनऊ में अकेले पांच सौ मामले हैं। शाइन सिटी कंपनी में आसिफ 49 फीसद का पार्टनर था, जबकि उसका भाई राशिद 51 फीसद का मालिक है। राशिद की पत्नी, कंपनी के निदेशकों समेत कुल 47 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 82 आरोपितों के खिलाफ कुर्की का आदेश भी हो चुका है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − 1 =

Back to top button