टूटा स्वर्ण पदक का सपना, सेमीफाइनल में हारीं पीवी सिंधु

भारत की महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल मुकाबले में विश्व की नंबर-1 चीनी ताइपे की ताई जू यिंग के हाथों 0-2 से हार का सामना करना पड़ा. रियो ओलंपिक की सिल्वर मेडल विजेता सिंधु भारत की सबसे बड़ी पदक उम्मीद थी और जिस तरह उन्होंने टोक्यो में अबतक प्रदर्शन किया था, उससे लग रहा था कि वह इस बार स्वर्ण पदक ला सकती हैं. लेकिन इस हार के साथ उनका यह सपना टूट गया.

सिंधु को जू यिंग के हाथों 40 मिनट तक चले मुकाबले में 18-21, 12-21 से हार का सामना करना पड़ा. सिंधु ने पहले गेम में बेहतर किया और शुरूआत में बढ़त भी ली लेकिन जू यिंग ने वापसी करते हुए पहला गेम अपने नाम किया. इसके बाद दूसरे गेम में सिंधु कोई चुनौती पेश नहीं कर सकीं और यह गेम भी हार गईं. 

सिंधु भले ही स्वर्ण पदक की रेस से बाहर हो गई हैं लेकिन उनके पास अभी कांस्य हासिल करने का मौका है. सिंधु का कांस्य पदक मुकाबले में सामना चीन की ही बिंग जिआओ से रविवार को होगा. बिंग जिआओ को एक अन्य सेमीफाइनल में हमवतन चेन यू फेई से 1-2 से हार का सामना करना पड़ा. सिंधु ने पांच साल पहले रियो ओलंपिक में रजत पदक जीता था. उन्हें फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन के हाथों हार झेलनी पड़ी थी। इस बार सिंधु से रियो के प्रदर्शन से बेहतर करने की उम्मीद थी। लेकिन ऐसा नहीं हो सका. 

सेमीफाइनल के बाद क्या बोले सिंधु के पिता

हैदराबाद में बैठकर पीवी सिंधु का परिवार सेमीफाइनल मुकाबला देख रहा था. मैच के बाद उनके पिता पीवी रमना ने कहा, “जब कोई खिलाड़ी लय में नहीं आ पाता तो यह सब होता है. कल वह अच्छी लय में थी और वापसी कर उसने अकाने यामागुची को हराया था. आज ताई जु यिंग ने उसे वापसी करने का कोई मौका नहीं दिया.”

भारत के लिए अच्छा नहीं रहा शनिवार का दिन

भारतीय मुक्केबाजी के लिए भी शनिवार का दिन निराशाजनक रहा जिसमें दुनिया के नंबर एक मुक्केबाज अमित पंघाल (52 किग्रा) के बाद पूजा रानी (75 किग्रा) भी अपनी प्रतिद्वंद्वी से हारकर टोक्यो ओलंपिक से बाहर हो गयीं. इधर भारतीय निशानेबाज अंजुम मोदगिल और तेजस्विनी सावंत महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री के फाइनल में जगह बनाने से चूक गए. क्वालीफाइंग राउंड में अंजुम 15वें और तेजस्विनी 33वें स्थान पर रहीं.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × five =

Back to top button