विकास की चर्चा पर लगा हंगामे का ग्रहण…

कानपुर: नगर निगम कार्यकारिणी की बैठक दूसरी बार भी हंगामे की भेंट चढ़ गई। ढाई घंटे शहर के विकास को लेकर हंगामा होता रहा पर कार्यकारिणी मात्र 20 मिनट में स्थगित कर दी गई।विकास की चर्चा पर लगा हंगामे का ग्रहण

सोमवार को कार्यकारिणी बैठक के एजेंडे में शामिल बृजेन्द्र स्वरूप पार्क में पालिका स्टेडियम एक साल के लिए अनुबंध पर दिए जाने के प्रस्ताव पर चर्चा शुरू हुई कि कार्यकारिणी कक्ष के बाहर सपा, कांग्रेस व निर्दलीय पार्षदों ने नारेबाजी शुरू कर दी। शोर बढ़ता देखकर महापौर प्रमिला पाण्डेय ने बैठक स्थगित कर दी। विकास की मांग को लेकर पार्षद धरने पर बैठ गए और महापौर से इस्तीफे की मांग शुरू कर दी।

महापौर ने ज्ञापन लेने के लिए नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा और उपसभापति नवीन पंडित को भेजा पर ज्ञापन देने से मना कर दिया। इसके बाद महापौर ने कक्ष में पार्षदों को बुलाया। इस दौरान बाहरी लोग भी अंदर घुस गए और शोर मचाना शुरू कर दिया, इससे महापौर बिफर गई। वरिष्ठ पार्षदों ने मामला शांत कराया। महापौर ने कहा कि कार्यकारिणी बैठक मंगलवार को भारी फोर्स के बीच बुलाई जाएगी।

अक्ल नहीं है कहने पर भड़के पार्षद

कांग्रेस पार्षद दल के नेता कमल शुक्ल बेबी ज्ञापन पढ़ने लगे तो महापौर ने कहा कि भाषण न दो। ये सुनकर उन्होंने कहा कि वह जनता की आवाज रखेंगे। विकास नहीं हो रहे हैं, पांच बार का पार्षद हूं। इस पर महापौर ने कहा कि अक्ल नहीं है तुम्हें। पार्षद अमीम ने कहा कि उनके नेता का अपमान हो रहा है। इसके बाद हंगामा शुरू हो गया। महापौर ने कहा कि बाहरी व्यक्ति कैसे घुस आए। सपा पार्षद दल के नेता सुहैल अहमद, भाजपा पार्षद दल के उपनेता महेन्द्र शुक्ल, उपसभापति ने बीच में पड़कर मामला शांत कराया। दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि हाउस टैक्स के बढ़े बिल वापस लिए जाएं, विकास कार्य कराए जाएं, हैंडपंप लगें और सड़कों का निर्माण कराया जाए। नालों की सफाई युद्धस्तर पर कराई जाए।

सीसीटीवी से चिह्नित होंगे बाहरी

सदन में घुसे बाहरी लोगों को नगर निगम में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से चिह्नित किया जाएगा। इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

विकास को लेकर आंदोलित पार्षद कमल शुक्ल के वार्ड में 45 लाख रुपये के काम हो चुके हैं। बेवजह विरोध कार्यकारिणी में कर रहे हैं। सभी 110 वार्डो में कराए जा रहे कामों की सूची नगर निगम में चिपकाई जाएगी।

प्रमिला पाण्डेय, महापौर

महापौर ने उनके व अन्य पार्षदों के साथ अभद्रता की है। एक जनप्रतिनिधि को यह शोभा नहीं देता है। जनता की समस्याओं पर न चर्चा हो रही है न काम। इसका जवाब सदन में मांगा जाएगा।

कमल शुक्ल बेबी, नेता कांग्रेस पार्षद दल

आठ माह सदन को गठित हुए हो चुके हैं लेकिन विकास कार्य दूर गली पिट व नाली तक नहीं बन रही है। बारिश शुरू हो गई है लेकिन अभी तक नाले साफ तक नहीं हुए है। एजेंडे में जनता से जुड़े एक भी प्रस्ताव नहीं हैं।

– सुहैल अहमद, नेता सपा पार्षद दल

पहचान पत्र दिखाने पर ही पार्षदों को प्रवेश

महापौर ने पार्षदों के पहचान पत्र एक हफ्ते में बनवाने के आदेश दिए हैं। कार्यकारिणी और सदन बैठक में प्रवेश परिचय पत्र दिखाने पर ही हो सकेगा। साथ ही अफसरों व कर्मचारियों का भी परिचय देखा जाएगा।

जर्जर टंकी से पिला रहे दूषित पानी

कार्यकारिणी कक्ष के बाहर धरने में बैठे पार्षद अर्पित यादव, अमोद त्रिपाठी, अश्विनी चढ्डा, मोहम्मद अमीर, कीर्ति अग्निहोत्री, अमित मेहरोत्रा, राजीव सेतिया, संजीव मिश्र, राकेश साहू, जितेन्द्र सचान ने दैनिक जागरण में कर्नलगंज में स्थित जर्जर पानी की टंकी से जलापूर्ति किए जाने की खबर अफसरों को दिखाते हुए कहा कि शहर को दूषित जलापूर्ति हो रही है, लेकिन अभी तक कार्रवाई नहीं की गई है।

Loading...

Check Also

अभ्यर्थियों की समस्या को लेकर 18 नवंबर को होने वाली टीईटी परीक्षा का समय बदला

अभ्यर्थियों की समस्या को लेकर 18 नवंबर को होने वाली टीईटी परीक्षा का समय बदला

18 नवंबर को होने वाली शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) 2018 में दूसरी पाली का समय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com