बाइक टैक्सी संचालित कर रही कंपनियों ने इंदौर के आरटीओ के पत्र का दिया ये जवाब…

बाइक टैक्सी संचालित कर रही कंपनियों ने इंदौर के आरटीओ के पत्र का जवाब दे दिया है। कंपनियों ने कहा है कि वे अब अपने यहां पर केवल उन्हीं बाइक को अनुबंधित करेंगे जो व्यावसायिक श्रेणी में पंजीकृत होंगी।

आरटीओ जितेन्द्र सिंह रघुवंशी ने पिछले दिनों इस तरह की सेवाएं देने वाली कंपनियों को नोटिस देकर कहा था कि वे लोग एग्रीगेटर का लाइसेंस लेकर शहर में बाइक टैक्सी का संचालन कर रहे हैं। लेकिन उनके यहां अनुबंधित बाइक निजी श्रेणी की हैं जो कि नियमों का उल्लंघन है। इसलिए इसे बंद किया जाए और कंपनी केवल व्यावसायिक श्रेणी के वाहनों को ही अनुबंधित करें। अन्यथा हम आप पर कार्रवाई करेंगे। इसके बाद कंपनियों ने उन्हें जवाब दे दिया है और नियम का पालन करने के लिए कहा है।

आटो चालक कर रहे विरोध – गौरतलब है कि बीते कई दिनों से शहर के आटो चालक इन बाइक टैक्सी का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि ये बाइक टैक्सी नियमों के विरुद्व चल रही हैं। यात्री इनका उपयोग ज्यादा कर रहे हैं। इस कारण उन्हें परेशानी हो रही है। इसके बाद आरटीओ ने ऐसी बाइक टैक्सी पर कार्रवाई भी की थी। आरटीओ कर्मचारियों ने यात्री बन कर बाइक टैक्सी बुक की और इसके बाद उन्हें जब्त कर लिया था। पकड़े गए बाइक चालकों में से अधिकांश छात्र थे जो दूसरे शहरों से यहां पढ़ने के लिए आए और यहां पर यह काम करने लगे हैं। जबकि कुछ चालकों ने आरटीओ को बताया था कि वे दूसरा काम करते हैं लेकिन समय मिलने पर इन कंपनियाें के राइडर के रूप में बाइक चलाते हैं। यह उनकी निजी बाइक है। इस तरह से बाइक टैक्सी चलाने पर उन्हें कुछ घंटों में अच्छी खासी आमदनी हो जाती है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button