28 साल की अरबपति डॉक्टर ने मोह-माया का त्याग कर बनी साध्वी

सूरत: बचपन से ही हर किसी का सपना होता है कि वह डॉक्टर, इंजिनियर बने या फिर वकील हम आपको सूरत में रहने वाली आज एक ऐसी 28 वर्षीय महिला डॉक्टर के बारे में बताने जा रहे हैं. जिसका नाम हिना  है उसके पिता का करोड़ों रुपये का बड़ा कारोबार है .उसके घर में दुनिया की हर सुख सुविधा है. यहां तक खुद हिना ने भी  MBBS की पढाई में टॉप भी किया है और एक सरकारी अस्पताल में प्रक्टिस भी कर रही थीं. इसके बावजूद उन्होंने इस सांसारिक मोह माया को त्याग सूरत के आध्यात्मिक गुरु आचार्य विजय यशोवर्मा सुरेश्वरजी महाराज से दीक्षा  लेकर साध्वी बन गई .

हिना के बारे में बताया जाता है कि वह बचपन से पढ़ने में काफी अच्छी थी. पढाई के साथ- साथ उसकी रुझान बचपन से ही अध्यात्मिक की तरह था. वह 18 साल की तभी तभी वह सन्यास लेने के बारे में उसने फैसला लिया था. लेकिन परिवार वालों के दबाव के कारण उसे अपना फैसला बदलना पड़ा. क्योंकि उसके पिता उसे डॉक्टर के रूप में देखना चाहते थे.

पिता का सपना पूरा करने के बाद उसने संस्कारिक मोह माया से सन्यास ले लिया. वह अब अपनी जिंदगी एक साध्वी के रूप में बिताएगी. वह अपना नाम हिना जैन से बदलकर साध्वी श्री विशारदमाला रख लिया है.  गौरतलब हो कि गुजरात में इतनी कम उम्र में किसी का सन्यास लेना कोई नई बात नहीं है हिना से पहले अप्रैल 2018 में गुजरात के हीरा कारोबारी के बेटे भव्य शाह ने भी महज 12 साल की उम्र में सन्यास ले लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नवाज और मरियम शरीफ को कोर्ट से मिली बड़ी राहत, सजा पर लगाई रोक

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बड़ी राहत मिली