टीम इंडिया ने बनाया नया रिकॉर्ड, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पूरे किए 100 टेस्ट मैच

ऐतिहासिक मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 100वें टेस्ट मैच का गवाह बना. शनिवार से यहां शुरू हुआ बॉक्सिंग डे टेस्ट इन दोनों टीमों के बीच के क्रिकेट रिश्तों के लिहाज से एक बहुत बड़ा मील का पत्थर है.

आज बेशक भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच क्रिकेट के मैदान पर जबरदस्त प्रतिस्पर्धा होती है, लेकिन इतिहास इस बात का गवाह है कि ऑस्ट्रेलिया ने दुनिया की बाकी अन्य टीमों के साथ-साथ भारत के खिलाफ भी हमेशा से अपना वर्चस्व कायम रखा है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

आंकड़े इस बात के गवाह हैं. अब तक खेल गए 99 टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलिया ने 43 मैच जीते हैं जबकि 28 में भारत की जीत हुई है. एक मैच टाई रहा है और 27 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं.

दोनों टीमों के बीच टेस्ट क्रिकेट की शुरूआत 1947 में भारतीय टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे के साथ हुई थी. पांच मैचों की उस सीरीज को मेजबान टीम ने 4-0 से जीता था. वह सीरीज 17 अक्टूबर 1947 को शुरू होकर 20 फरवरी 1948 में समाप्त हुई थी.

स्वतंत्र भारत की टीम पहली बार किसी विदेशी दौरे पर गई थी और इस टीम की कमान लाला अमरनाथ के हाथों में थी. दूसरी ओर, मेजबान टीम के कप्तान थे, दुनिया के महानतम बल्लेबाज माने जाने वाले सर डोनाल्ड ब्रैडमैन.

उस सीरीज में ब्रैडमैन ने 715 रन बनाए थे जबकि भारत की ओर से विजय हजारे ने सबसे अधिक 429 रन जुटाए थे. गेंदबाजी की बात करें तो रे लिंडवाल ने मेजबानों के लिए सबसे अधिक 18 और लाला अमरनाथ ने भारत के लिए 13 विकेट लिए थे. उसके बाद 1956-57 में ऑस्ट्रेलिया ने पहली बार भारत का दौरा किया. दोनों टीमों के बीच तीन मैचों की सीरीज खेली गई, जिसे ऑस्ट्रेलिया ने 2-0 से जीता.

1959-60 में ऑस्ट्रेलियाई टीम एक बार फिर भारत दौरे पर आई और पांच मैचों की एक सीरीज में हिस्सा लिया. यह सीरीज भारत ने 2-1 से अपने नाम किया. इस सीरीज की खास बात यह रही कि इसमें भारत ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में जीत हासिल की.

उसके बाद कंगारू 1964-65 में एक बार फिर भारत आए और तीन मैचों की सीरीज खेली, जो 1-1 से ड्रॉ रही. साल 1979-80 भारत के लिए बेहद खास था, क्योंकि इस साल भारत ने महान सुनील गावस्कर की कप्तानी में अपने घर में खेलते हुए छह मैचों की सीरीज में 2-0 से जीत हासिल की. यह कंगारूओं के खिलाफ भारत की पहली सीरीज जीत थी.

1996-97 से इन दोनों देशों के बीच होने वाली टेस्ट सीरीज को बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी नाम दे दिया गया. सुनील गावस्कर और एलन बॉर्डर दोनों टीमों के महान खिलाड़ी और कप्तान रहे हैं.

गावस्कर की कप्तानी में भारत ने अपने घर में तो आस्ट्रेलिया को 1979-80 में हरा दिया लेकिन उसके घर में पहली सीरीज जीत के लिए उसे और 38 साल लग गए, क्योंकि 2018 में जाकर विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को चार मैचों की सीरीज में 2-1 से हराया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button