प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 अप्रैल को लंदन में ‘भारत की बात, सबके साथ’ शीर्षक से एक परिचर्चा सत्र को संबोधित करेंगे. भाजपा के विदेश मामले के विभाग के प्रभारी विजय चौथाईवाले ने ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट किया, ‘लंदन में 18 अप्रैल को एक अनोखे कार्यक्रम की योजना बनाई गई है. इसका शीर्षक ‘भारत की बात, सबके साथ’ है.

यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ लाइव संवाद का कार्यक्रम होगा. लंदन में प्रधानमंत्री का यह कार्यक्रम ऐसे समय में रखा गया है जब लंदन में ही 16 से 20 अप्रैल तक द्विवाषिर्क राष्ट्रमण्डल सरकार प्रमुखों (चोगम) का शिखर सम्मेलन आयोजित हो रहा है.

इस शिखर सम्मेलन के दौरान समूह के 53 सदस्य राष्ट्र उसके समक्ष अवसरों और चुनौतियों, लोकतंत्र और शांति तथा समृद्धि को आगे बढ़ाने के बारे में साझा रूख तय करेंगे. इस सम्मेलन के आयोजन स्थल के तौर पर पहली बार विंडसर कैसल का चयन किया गया है. इससे पहले ब्रिटेन ने साल 1997 में चोगम की मेजबानी की थी. साल 2018 चोगम में ब्रिटेन इस समूह के प्रमुख की जिम्मेदारी लेगा और वह इस समूह का साल 2020 तक प्रमुख रहेगा.

बंगाल में सांप्रदायिक हिंसा, ममता सरकार ने गवर्नर को जाने से रोका

इस सम्मेलन की तैयारियों के क्रम में चोगम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टीम हिचेन्स ने इस जनवरी में भारत का दौरान किया था. चोगम शिखर सम्मेलन का आयोजन संयुक्त रूप से मेजबान देश तथा राष्ट्रमंडल सचिवालय द्वारा किया जाता है.

राष्ट्रमंडल सरकार प्रमुखों के शिखर सम्मेलन के दौरान सदस्य देशों के नेताओं के बीच पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन, कानून आधारित व्यवस्था, साइबर सुरक्षा जैसे नये उभरते खतरे, हिंसक चरमपंथ और उनसे निपटने के उपाय तथा आतंकवाद से निपटने के उद्देश्य से सुरक्षा सहयोग जैसे विषयों पर चर्चा होने की संभावना है. इसमें युवाओं समेत नागरिकों के बेहतर भविष्य से जुड़ी चुनौतियों पर भी चर्चा होगी.