पठानकोट में घुसे संदिग्‍धों के फिदायीन होने का शक, सुरक्षा एजेसियों के होश उड़े

- in पंजाब, राज्य

गुरदासपुर। भारत-पाकिस्‍तान सीमा के पास बमियाल सेक्टर में रविवार रात सेना की वर्दी में दिखे संदिग्ध लोगों के फिदायीन गुट के सदस्य होने की आशंका हैं। पंजाब पुलिस के खुफिया विभाग की ओर से दिए गए इनपुट में यह आशंका जाहिर की गई है। इससे पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों के होश उड़ गए हैं। उनकी तलाश में अभियान और तेज कर दिया गया है। इसके साथ ही किसी तरह के आतंकी हमले से निपटने के लिए तैयारी की जा रही है। पंजाब पुलिस के शीर्ष अधिकारियों की ओर से किसी संभावित हमले से निपटने के लिए रणनीति  बनाई जा रही है। आइजी बार्डर रेंज सुरिंदर पाल सिंह परमार व पठानकोट के एसएसपी  विवेक सोनी पूरे मामले पर नजर रख रहे हैं और सच ऑपरेशन की निगरानी कर रहे हैं।

दो अधिक हो सकती है संदिग्धों की संख्या, फोल्ड होने वाली राइफल व अन्य हथियार हैं इनके पास

खुफिया विभाग के अनुसार, संदिग्ध लोगों ने मुस्कान अली से पहले आल्टो कार छीनी। उन्‍होंने आल्‍टो कार को गांव कोट भट्टियां में छोड़ दिया और वहां से एक क्रेटा या ब्रेजा कार में गए। यह क्रेटा व ब्रेजा कार कहां से आई और किसकी थी, इसका पता नहीं चला है। आशंका जताई गई है कि इन संदिग्धों की संख्या दो से अधिक भी हो सकती है। संदिग्धों के पास फोल्ड होने वाली राइफल व अन्य हथियार भी हैं। एसएसपी विवेकशील सोनी ने कहा कि पुलिस किसी भी तरह का रिस्क नहीं लेना चाहती। पुलिस अभी यह मान कर चल रही है कि संदिग्ध व्यक्ति आतंकवादी हैं।

पुलिस थाने या शॉपिंग मॉल निशाने पर

खुफिया विभाग के इनपुट के अनुसार गुरदासपुर, बटाला व पठानकोट के एसएसपी को किसी संभावित हमले से बचने के लिए सुरक्षा को तुरंत मजबूत करने के निर्देश दिए गए हैं। यह आशंका भी जताई जा रही है कि डिफेंस, सेंट्रल आर्म्‍ड पुलिस फोर्स, हाईवे पर स्थित पुलिस थानों, चौकियों, पुलिस लाइंस, शॉङ्क्षपग मॉल, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट आदि फिदायीन हमले का निशाना बन सकते हैं।

आइजी ने की अधिकारियों के साथ बैठक

आइजी सुरिंदर पाल सिंह परमार ने एसएसपी रैंक के अधिकारियों के साथ बैठक भी की और हाईवे पर स्थित पुलिस थानों के बाहर सुरक्षा का जायजा भी लिया। गौरतलब है कि 27 जुलाई 2016 को दीनानगर थाने व 2 जनवरी 2016 को पठानकोट एयरबेस पर फिदायीन हमले हो चुके हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के