मरने के बाद भी सुशांत का रोशन हुआ नाम ‘छिछोरे’ बनी सर्वश्रेष्ठ हिंदी फिल्म…

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार सेरेमनी का आयोजन आज यानी सोमवार को हुआ. कोरोना वायरस महामारी के चलते यह सेरेमनी एक साल लेट हुई. हर साल 3 मई को होने वाली इस अवॉर्ड सेरेमनी का आयोजन नेशनल मीडिया सेंटर में हुआ, जहां पर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा की. सेरेमनी में 2019 में बनी फिल्मों के लिए पुरस्कारों की घोषणा की गई और हम आपको बता रहे हैं इसके विजेताओं के बारे में.

इस सेरेमनी में Central Board of Film Certification द्वारा 1 जनवरी 2019 से लेकर 31 दिसंबर 2019 तक सर्टिफाइड की गई फिल्मों को पुरस्कार वितरण के लिए एंट्री दी गई है. पुरस्कारों के लिए आखिरी एंट्री 17 फरवरी 2020 तक ही रखी गई थी. यह सेरेमनी 2020 में होनी थी, लेकिन उसके बजाए आज हो रही है.

ध्यान दें कि ये स्टोरी अभी अपडेट हो रही है, इसलिए इस पेज को फ्रेश करते रहें.

67वें नेशनल अवॉर्ड के विजेता 

इस सेरेमनी में जीतने वाले विजेताओं के नाम हैं-

मोस्ट फिल्म फ्रेंडली स्टेट – सिक्किम 

बेस्ट बुक ऑन सिनेमा – अ गांधियन अफेयर: इंडियाज क्यूरियस पोरट्रायल ऑफ लव इन सिनेमा बाय संजय सूरी 

(स्पेशल मेंशन– लिखक अशोक राणे की सिनेमा पाहणारा माणूस और लेखक पीआर रामदास नायडू की किताब Kannada Cinema: Jagathika Cinema Vikasa-Prerane Prabhava)

बेस्ट फिल्म क्रिटिक – सोहिनी चट्टोपाध्याय 

नॉन फीचर फिल्म केटेगरी 

बेस्ट नरेशन – वाइल्ड कर्नाटक, सर डेविड अटेन्बर्ग 

बेस्ट एडिटिंग – शट अप सोना, अर्जुन गौरीसराई 

बेस्ट ऑटोबायोग्राफी – राधा (म्यूजिकल), ऑल्विन रेगो और संजय मौर्या 

बेस्ट ऑन-लोकेशन साउंड रिकॉर्डिस्ट – रहस (हिंदी), सप्तर्षि सरकार 

बेस्ट सिनेमेटोग्राफी – सोनसी, सविता सिंह 

बेस्ट डायरेक्शन – नॉक नॉक नॉक (इंग्लिश/बंगाली), सुधांशु सरिया 

फैमिली वैल्यूज – Oru Paathiraa Swapnam Pole (मलयालम)

बेस्ट शार्ट फिक्शन फिल्म – कस्टडी (हिंदी/इंग्लिश)

स्पेशल जूरी अवॉर्ड – Small Scale Societies (इंग्लिश)

बेस्ट एनीमेशन फिल्म – राधा (म्यूजिकल)

बेस्ट इनवेस्टिगेटिव फिल्म – Jakkal

बेस्ट एक्सप्लोरेशन फिल्म – वाइल्ड कर्णाटक (इंग्लिश)

बेस्ट एजुकेशन फिल्म – एपल्स एंड ओरांजेस (इंग्लिश)

बेस्ट फिल्म ऑन सकल इश्यूज – होली राइट्स (हिंदी) और लाड़ली (हिंदी)

फीचर फिल्म्स 

स्पेशल मेंशन – बिरयानी (मलयालम), Jonaki Porua (असामी), लता भगवान कारे (मराठी), पिकासो (मराठी)

Best Tulu Film: Pingara

बेस्ट तुलु फिल्म – पिंजारा 

बेस्ट पनिया फिल्म – केंजीरा 

बेस्ट मिशिंग फिल्म – अनु रुवाद 

बेस्ट खासी फिल्म – लेवदह 

बेस्ट हरयाणवी फिल्म – छोरियां चोरों से कम नहीं होती 

बेस्ट छत्तीसगढ़ी फिल्म – भुलान थे माजे 

बेस्ट तेलुगु फिल्म – जर्सी 

बेस्ट तमिल फिल्म – असुरन 

बेस्ट हिंदी फिल्म – छिछोरे

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button