सर्वे में खुला राज, सेक्स के लिए क्यों बेचैन होने लगता हैं लड़कियों का शरीर

अक्सर हम सोचते है कि महिलाएं सेक्स के बारे में नहीं सोचती हैं लेकिन ऐसे कई शोध किये गये हैं। जिनमें महिला और पुरुष के बारे ये पता चला कि दोनों ही सेक्स के बारे में बराबरी से सोचते हैं।

 

Loading...

नई दिल्ली।  अक्सर हम सोचते है कि महिलाएं सेक्स के बारे में नहीं सोचती हैं लेकिन ऐसे कई शोध किये गये हैं। जिनमें महिला और पुरुष के बारे ये पता चला कि दोनों ही सेक्स के बारे में बराबरी से सोचते हैं। लेकिन यहां बात करें पुरुषों को तो इस बात की जानकारी मिली है कि पुरुषों के दिमाग में सेक्स का इतनी जल्दी कैसे आता है।

सर्वे में हुआ खुलासा-

शोध में ये पाया गया है कि सेक्स के लिए प्रेरित करने वाले कारण स्त्री और पुरूषों मे एक समान पाए गए हैं। इसमें कॉलेज में पढ़ने वाले लड़के और लड़कियों ने यही कहा है कि सेक्स करने का सबसे बड़ा कारण है शारीरिक सुख है। सेक्स करने से शारीरिक सुख मिलता है जिससे वो अच्छा फील करते हैं।

इसके अलावा सेक्स करने का दूसरा कारण है प्रेम को जाहिर करना जिससे रिश्ते मजबूत होते हैं। साथ ही एक दूसरे के प्रति आकर्षित होना और कुछ तो ऐसे भी हैं जो बदला लेने के लिए सेक्स करते हैं। ये बहुत ही अजीब कारण सामने आया है।

माह में कितनी बार जरूरी है सेक्स-

एक सुखी शादीशुदा जीवन में सेक्स बड़ी भूमिका निभाता है लेकिन सवाल ये है कि क्या इसकी भी कोई सीमा होनी चाहिए? पति-पत्नी के बीच सेक्स संबंधों को लेकर शोध होते रहते हैं। ऐसे ही एक शोध में बताया गया है कि महिलाओं की यौन संतुष्टि से ज्यादा जरूरी है कि सेक्स कितनी बार किया गया।

शोध के अनुसार वही महिला अपने यौन जीवन से संतु्ष्ट रहती है जो एक महीने में करीब 11 बार सेक्स करती है। ये वे महिलाएं हैं जिनकी शादी के कुछ साल बीत चुके हैं। लेकिन एक नवविवाहिता के लिए माह में 11 बार सेक्स ना काफी होता है। उनकी सेक्स इच्छा इससे तीन से चार गुना अधिक होती है और तब भी वे संतुष्ट नहीं होती।

प्रसिद्ध लेखक, साइकोथेरेपिस्ट और इस शोध के प्रमुख लेखक एम गैरी न्यूमैन ने सुझाव दिया है कि शादी के दो वर्षों के बाद शादीशुदा जोड़ों को अपने प्रेम संबंध की निकटता और उत्तेजना को पहले की तरह बनाए रखना चाहिए। उनका कहना था कि तेज़ भागते जीवन की वजह से जोड़ों के बीच सेक्स कम होता जाता है। न्यूमैन का कहना है कि उनके शोध का मकसद यह पता करना था कि एक दम्पत्ति को महीने में कितनी बार संबंध बनाने चाहिए।

 

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button