नई दिल्‍ली: राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भाजपा को फिर से सत्ता में लाने के लिए राजसमन्द जिले के चारभूजा जी मंदिर से रथ यात्रा  शुरू करने जा रही हैं. यात्रा की तैयारियों में इन दिनों पूरे भाजपा संगठन ने पूरी जी जान झोंकी दी है. बता दें कि वसुंधरा राजे फिर से मुख्यमंत्री बनने के लिए जनता के बीच उसी रथ से जाएंगी जिस रथ पर सवार होकर उन्होंने 2013 में सुराज संकल्प यात्रा निकाली थी और मुख्यमंत्री बनी थीं.

बता दें कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने दो बार चारभुजा जी मंदिर से अपनी यात्रा शुरू की थी और दोनों बार वे मुख्‍यमंत्री बनने में सफल रही. इन दोनों मौकों पर बीजेपी उम्मीदवार ने अच्छे मार्जिन के साथ जीत दर्ज की थी. 2003 में जब राजे ने पहली बार अपनी यात्रा शुरू की, जिसे बाद में चारभूजा जी से परिवर्तन यात्रा कहा जाता था. भाजपा उम्मीदवार सुरेंद्र सिंह राठौर ने कांग्रेस के हरालल देवपुरा को पराजित किया, वह भी 24,000 से अधिक वोटों के अंतर से. देवपुरा को एक बहुत ही मजबूत उम्मीदवार माना जाता था और पूर्व में राज्य के मुख्यमंत्री भी रहे थे.

वसुंधरा राजे ने 2013 में सूरज संकल्प यात्रा की

उसके बाद जब वसुंधरा राजे ने 2013 में सूरज संकल्प यात्रा की, तब बीजेपी सत्ता में आने के लिए लड़ रही थी, एक बार फिर राठौर विजयी हुए थे. उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार को हराया था. जीत का मार्जिन तब 27,000 से अधिक वोटों में बढ़ गया. 2003 से पहले जब राजे ने अपनी राजनीतिक यात्रा शुरू की थी. हालांकि, 2008 में अपने वर्तमान कार्यकाल को पूरा करने के बाद बीजेपी सरकार चुनाव में आई, लेकिन मुख्यमंत्री की ओर से कोई राजनीतिक यात्रा नहीं हुई थी.