केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के जज नियुक्‍त करने में बड़ा फैसला लिया है. सरकार ने सीनियर वकील इंदूू मल्होत्रा को सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्त किए जाने को मंजूरी दे दी है.

विधि मंत्रालय में मौजूद सूत्रों ने इसकी जानकारी दी. बार से बकौल एडवोकेट, सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज नियुक्त होने वाली वह पहली महिला जज होंगी. बताया जा रहा है कि वे शुक्रवार को पद की शपथ ले सकती हैं. जानें कौन हैं इंदू मल्‍होत्रा-

कौन हैं इंदूू मल्‍होत्रा

– इंदूू मल्‍होत्रा पहली ऐसी महिला हैं जिन्‍हें सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन से सीधे बेंच में जगह दिए जाने का फैसला लिया गया है.
– मल्‍होत्रा सुप्रीम कोर्ट में जज बनने वाली सातवीं महिल होंगी. उनसे पहले जस्टिस एम फातिमा बीवी, जस्अिस सुजाता वी मनोहर, जस्टिस रूमा पाल, जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा और जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई, जस्टिस आर भानुमति इस पद पर रह चुकी हैं.
– इंदूू का जन्‍म 1956 में बंगलुरु में हुआ. वे कम उम्र में ही दिलली आ गईं.

असम मंत्रिमंडल में शामिल हुए सात नये मंत्री

– उनके पिता ओम प्रकाश मल्‍होत्रा भी वकील ही थे.
– 1983 में वे बार काउंसिल ऑफ इंडिया से वकील के तौर पर एनरोल हुईं.
– लीगल प्रोफेशन में आने से पहले उन्‍होंने मिरांडा हाउस कॉलेज और विवेकानंदर कॉलेज से भी पढ़ाई की थी.
– 1988 में उन्‍होंने सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड यानी AoR क्‍वालिफाई किया.
– मल्‍होत्रा को 2007 में सीनियर एडवोकेट का पद मिला. वे जस्टिस लीला सेठ के बाद सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई दूसरी सीनियर एडवोकेट थीं.
– सुप्रीम कोर्ट से पहले वे सिक्‍योरिटीज एक्‍सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया यानी सेबी, दिल्‍ली डेवलेपमेंट अथॉरिटी यानी डीडीए, कांउसिल फॉर साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च यानी सीएसआईआर, इंडियन काउंसिल फॉर एग्रिकल्‍चरल रिसर्च यानी आईसीएआर को रिप्रजेंट कर चुकी हैं.