आज से शुक्र की राशि तुला में ही वक्री चाल चलेंगे बुध, जानें राशियों पर क्या पड़ेगा प्रभाव

ज्योतिषी। अधिक मास अश्विन कृष्ण पक्ष एकादशी 13 अक्टूबर 2020 मंगलवार की रात को बुद्धि ,बौद्धिकता विद्या, लेखन शक्ति, पत्रकारिता, साहित्य आदि के कारक एवं मिथुन व कन्या राशि के स्वामी ग्रह बुध का तुला राशि में ही मार्ग परिवर्तन करके वक्री हो जाएंगे। उत्थान ज्योतिष संस्थान के निदेशक ज्योतिर्विद पं दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली ने बताया कि इसके बाद बुध ग्रह फिर 3 नवंबर 2020 दिन मंगलवार को तुला राशि मे मार्गी होंगे। यहां पर ही ये 27 नवंबर तक मार्गी रहकर चराचर जगत को प्रभावित करेंगे। इस प्रकार लंबे समय तक शुक्र की राशि तुला में गोचर करेंगे।

मेष- पराक्रम में वृद्धि, जीवनसाथी के स्वास्थ्य में तनाव, साझेदारी में तनाव,प्रेम संबंधों में थोड़ा तनाव, बुद्धि का सकारात्मक एवं सफल प्रयोग।

वृष- धन को लेकर थोड़ा तनाव के साथ प्रगति, परिवार में आन्तरिक तनाव, वाणी संभलकर बोले एवं अनावश्यक विवाद एवं खर्च से दूर रहे, संतान के प्रति थोड़ी चिन्ता।

मिथुन- बुद्धि का सफल प्रयोग,स्वास्थ्य, सुख,विद्या में वृद्धि, संतान के पक्ष में प्रगति,लाभ में वृद्धि, परंतु अचानक नकारात्मक विचार एवं तनाव भी सम्भव।

कर्क- सीने की तकलीफ, माता के स्वास्थ्य को लेकर चिंता, गृह एवं वाहन संबंधित खर्च या तनाव,मन अशांत,आन्तरिक डर या असंतोष।

सिंह- धन संबंधित कार्यो में अवरोध के साथ सफलता, परिवार में कुछ मांगलिक या नया कार्य भी,व्यापार में विस्तार,आंतरिक डर।

कन्या- धन वृद्धि के पूर्ण आसार, परिवार में नया कार्य,व्यापार में विस्तार, वाणी व्यवसाय से जुड़े लोगों को लाभ, परंतु स्वयं एवं माता के स्वास्थ्य का पूरा ध्यान दें।

तुला- कार्य क्षमता के बल पर नया कार्य या कार्यों में विस्तार,मानसिक चिन्ता बढ़ सकती है ,स्वास्थ्य के प्रति रहे सतर्क,पिता एवं घर का सहयोग मिलेगा,प्रेम संबंध में वृद्धि एवं जीवन साथी का सहयोग।

वृश्चिक- व्यय में अधिकता, आंतरिक रोग,ऋण , एवं शत्रु के प्रति सावधान रहें, व्यापारिक गतिविधियों के लिए या नई कार्य योजना के लिए बड़ी यात्रा भी सम्भव।

धनु- जीवनसाथी के सहयोग एवं सानिध्य में वृद्धि , प्रेम संबंध में वृद्धि , आय के साधनों एवं लाभ में वृद्धि , अध्ययन-अध्यापन में वृद्धि ।

मकर- राज्य सम्मान एवं परिश्रम में वृद्धि , कार्य क्षेत्र में प्रगति परंतु स्वास्थ्य के प्रति रहे सजग, गृह एवं वाहन सुख में वृद्धि ।

कुम्भ- भाग्य का साथ मिलेगा, आन्तरिक डर , संतान के क्षेत्र से शुभ समाचार, अध्ययन-अध्यापन में रुकावट के साथ वृद्धि , पिता का सहयोग सानिध्य,उच्चाधिकारियों का सहयोग।

मीन- पेट की एवं पेशाब संबंधित समस्या , धन वृद्धि , व्यवसाय से जुड़े लोगों को लाभ , जीवनसाथी के स्वास्थ्य के प्रति रहे सजग , प्रेम संबंध में तनाव संभव।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button