दक्षिण अफ्रीका की ‘राष्ट्रमाता’ विनी मंडेला का 81 साल की उम्र में निधन

दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले प्रमुख भारतीयों ने दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद विरोध के प्रतीक नेल्सन मंडेला की पत्नी और देश के नीति निर्धारकों और प्रमुख शख्सियतों में से एक विनी मंडेला को श्रद्धांजलि अर्पित की है. रंगभेद शासन के दौरान 27 साल तक अपने पति के जेल में रहने के दौरान विनी मंडेला रंगभेद विरोध संघर्ष का चेहरा बन गई थी. उनका सोमवार को जोहानिसबर्ग के मिलपार्क अस्पताल में निधन हो गया. वह 81 साल की थीं.

चर्चित प्रेम कहानी

नेल्सन मंडेला से विवाह करने और दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली विनी मैडिकिजेला- मंडेला को कई देशवासी राष्ट्रमाता के रूप में देखते हैं, हालांकि उनका अतीत विवादों से भरा है. 26 सितंबर 1936 को ईस्टर्न केप में जन्मीं विनी का नाम बचपन में नोमजामो विनीफ्रेड जैनेयवे माडिकिजेला था. लेकिन वह मशहूर सिर्फ विनी के नाम से हुईं. विनी और नेल्सन मंडेला की शादी आधुनिक इतिहास की सबसे चर्चित प्रेम कहानी रही.

दो बेटियों की परवरिश अकेले की

वर्ष 1958 में नेल्सन से उन्होंने शादी की. लेकिन शादी के तुरंत बाद नेल्सन भूमिगत हो गए. विनी ने अपनी शादीशुदा जिंदगी का अधिकतर हिस्सा अकेले ही गुजरा. नेल्सन 27 साल तक जेल में बंद रहे, जिसके कारण विनी ने अपनी दोनों बेटियों की परवरिश अकेले ही की और दमनकारी श्वेत- अल्पसंख्यक शासन के रहते हुए नेल्सन के राजनीतिक स्वप्न को जिंदा रखा. वर्ष1990 में जब नेल्सन मंडेला आखिरकार जेल से बाहर आए तब दुनिया ने उन्हें विनी के साथ हाथों में हाथ डाले देखा.

पाकिस्तान: हिन्दू ही नहीं ईसाई भी नहीं है सुरक्षित

गार्ड से प्रेम प्रसंग

हालांकि यह साथ लंबा नहीं चला और महज दो साल बाद ही दोनों अलग हो गए. एक युवा अंगरक्षक के साथ विनी के प्रेमसंबंधों के खुलासे के बाद वर्ष 1996 में उनका तलाक हो गया. नेल्सन के साथ और उनके बगैर रहते हुए भी विनी ने अपने बलबूते अपनी छवि एक सख्त, ग्लैमरस और मुखर अश्वेत कार्यकर्ता के तौर पर बनाई.

भारतीयों ने दी श्रद्धांजलि

दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले प्रमुख भारतीयों ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.अहमद कैथरादा फाउंडेशन के कार्यकारी निदेशक शान बाल्टन ने कहा कि अहमद कैथरादा की पहली पुण्यतिथि से कुछ दिन बाद और लालू चिबा और एडी डेनियल के निधन के कुछ महीनों के बाद उनके दिवंगत होने की खबर आई है. उनके निधन से हमने ना केवल एक मुक्ति कार्यकर्ता को खो दिया है बल्कि इतिहास का ऐसा स्रोत खो दिया है जिसकी कभी भरपाई नहीं की जा सकती है.

फाउंडेशन के अध्यक्ष डेरेक हनेकोम ने भी विनी मंडेला के निधन पर शोक व्यक्त किया है. एक समय फाउंडेशन का अध्यक्ष रहने वाल नादास पिल्ले ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जाने माने फिल्मकार अनंत सिंह मंडेला परिवार के करीबी मित्र थे और उन्होंने मंडेला की पुस्तक लांग वॉक टू फ्रीडम पर बनी फिल्म का निर्माण किया था. सिंह ने भी विनी मंडेला के निधन पर शोक व्यक्त किया है.

 
 
 

You may also like

सेना के इशारे पर काम करती है पाकिस्‍तान सरकार : पूर्व PM अब्‍बासी

इस्‍लामाबाद : पाकिस्‍तान से पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्‍बासी ने वहां की