कुछ इस तरह आर्मी जवान के लिए फरिश्ता बने हाईकोर्ट के जस्टिस राजीव शर्मा

- in राष्ट्रीय

नैनीताल में साइकिलिंग के लिए आया आर्मी का जवान हादसे का शिकार हो गया और हाईकोर्ट का एक जज उसके लिए फरिश्ता बनकर सामने आया। आर्मी जवान की साइकिल किलबरी रोड में कार से टकरा गई, तभी सड़क पर मॉर्निंग वॉक पर निकले हाईकोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश राजीव शर्मा वहां से गुजरे और उसकी मदद की। उन्होंने निजी वाहन से न केवल बीडी पांडेय अस्पताल पहुंचाया, बल्कि उसे सिटी स्कैन के लिए हल्द्वानी भी ले गए।

नैनीताल से वॉक टू हिमालयन साइकिलिंग रेस सुबह 7:30 बजे किलबरी रोड में टांकी बेंड से शुरू हुई, जो किलबरी से गुजर रही थी। इसी दौरान किलबरी के पास निर्मल सिंह (29 वर्ष) पुत्र छतर सिंह निवासी रूप नगर पंजाब हाल निवासी एजुकेशन रेजीमेंट पिथौरागढ़ में हवलदार के पद पर तैनात है, वाहन से टकराने से घायल हो गया। तभी घटनास्थल पर वॉक के लिए निकले हाईकोर्ट के वरिष्ठ जज जस्टिस राजीव शर्मा ने जवान की हालत देखी और उसे अस्पताल लाए। प्राथमिक उपचार के बाद उसे सिटी स्कैन के लिए हल्द्वानी रेफर कर दिया गया, जिसके बाद जस्टिस शर्मा भी उसके साथ हल्द्वानी गए। 

भारत-चीन सीमा भारतीय सैनिकों पर किया गया पथराव, 4 जवान जख्मी

हाईकोर्ट चिकित्सालय के अलावा बीडी पांडे अस्पताल की पीएमएस डॉ. तारा आर्य, मोनिका कांडपाल, एमएस रावत आदि ने उसका उपचार किया। हादसे की सूचना पर सीओ विजय थापा, प्रभारी कोतवाल बीसी मासीवाल, एसआई शंकर नयाल कॉस्टेबल विनोद यादव, सोनू सिंह, मनोज जोशी, महेश चंद्र भट्ट भी पहुंचे।

 

सम्बंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बीएसएफ जवान के साथ बर्बरता का जवाब दे मोदी सरकार: कांग्रेस

कांग्रेस ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ के जवान के शव