केदारनाथ की खड़ी चढ़ाई को कुछ इस तरह दिव्यांगों का दल करेगा फतह

- in उत्तराखंड, राज्य

देहरादून: यदि मन में जज्बा हो तो आस्था में दिव्यांगता भी आड़े नहीं आ सकती। इस बार भी दिव्यांगों का दल केदारनाथ की खड़ी चढ़ाई को कृत्रिम पैरों की मदद से पार करेगा। विगत वर्षों की तरह दिव्यांगजन प्रेरणा-2018 साहसिक मिशन का आयोजन किया जा रहा है। यह आयोजन नौटियाल कृत्रिम अंग केंद्र की ओर से 27 अप्रैल से एक मई के बीच किया जाएगा। इस साहसिक मिशन में गौरीकुंड से केदारनाथ धाम व वापस कुल 36 किमी की पैदल यात्रा दिव्यांगजन कृत्रिम पांव की सहायता से करेंगे।केदारनाथ की खड़ी चढ़ाई को कुछ इस तरह दिव्यांगों का दल करेगा फतह

संस्था के अध्यक्ष डॉ. वीके नौटियाल ने प्रेस वार्ता में बताया कि दिव्यांगजनों के इस साहसिक मिशन को विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल फ्लैग ऑफ करेंगे। इस दौरान सभी दिव्यांगजन अतिथियों को एक बेल वृक्ष भी भेंट करेंगे। यात्रा दल गौरीकुंड पहुंचकर केदारनाथ धाम के लिए 28 अप्रैल को कृत्रिम पांव की सहायता से पैदल साहसिक मिशन के लिए निकलेगा। 29 अप्रैल को बाबा केदार के दर्शन कर यह दल वापस गौरीकुंड आएगा। संस्थान के अध्यक्ष डॉ. विजय कुमार नौटियाल ने कहा कि दिव्यांगजन के लिए इस तरह के साहसिक अभियान का आयोजन उनमें साहस, ऊर्जा एवं जीवन को प्राकृतिक तरीके से जीने के लिए प्रेरित करने में सहायक सिद्ध होगा। 

डॉ. नौटियाल ने कहा कि दिव्यांगों में भी साहसिक यात्रा की ललक होती है और वह भी सामान्य व्यक्तियों की तरह कार्य करने को आतुर रहते हैं। इसी उद्देश्य से संस्था पिछले चार साल से इस अभियान का आयोजन कर रही है। इससे न केवल दल के सदस्यों में आत्मविश्वास जगेगा बल्कि एक सकारात्मक संदेश भी जाएगा। वह यह कि उत्तराखंड पर्यटकों के लिए पूर्णत: सुरक्षित व सुगम्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के