पर्सनल ट्रेनर से लेते हैं मदद

डेथ ओवर्स में बल्लेबाजों को डसने में महारत रखने वाले ड्वेन ब्रावो ने इसके लिए अपना एक पर्सनल ट्रेनर भी रख रखा है, जिनका नाम निकोलस है. निकोलस, ब्रावो के लिए बतौर फ्रीलांसर काम करते हैं, और इसके लिए वो उन्हें सैलरी भी देते हैं. ब्रावो के मुताबिक जब वो ऑफ सीजन में अपने घर पर होते हैं तो डेथ ओवर बॉलिंग पर अपनी पर्सनल टीम के साथ ही काम करते हैं.

IPL सामने हैं. ब्रावो एक बार फिर से धोनी की पीली जर्सी वाली टीम की जीत की सबसे बड़ी गारंटी हैं. ब्रावो पर जीत का इतना बड़ा दांव क्यों उसकी वजह भी साफ है और ये वजह है डेथ ओवर्स में बल्लेबाजों को बेचारा बनाकर छोड़ने वाली उनकी कातिलाना गेंदबाजी.