फिसले सोने की कीमतों के भाव, नौ हजार रुपये हुआ सस्ता…

चार दिन की गिरावट के बाद आज वायदा बाजार में सोने की कीमत में बढ़त दर्ज की गई। एमसीएक्स पर सोने का वायदा भाव 0.3 फीसदी बढ़कर 46,857 रुपये प्रति 10 ग्राम पर आ गया, जबकि चांदी वायदा 0.6 फीसदी बढ़कर 67,239 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई। पिछले सत्र में, सोना 1,000 रुपये यानी दो फीसदी प्रति 10 ग्राम से अधिक गिर गया था, जबकि चांदी 1,500 रुपये यानी 2.1 फीसदी प्रति किलोग्राम फिसल गई थी। बजट में आयात शुल्क में कटौती की घोषणा ने भारत में सोने की दरों को सात महीने के निचले स्तर पर पहुंचा दिया है। अगस्त में सोना 56,200 रुपये प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड उच्च स्तर पर था।


वैश्विक बाजारों में इतना रहा दाम
वैश्विक बाजारों में भी सोने की कीमतों में तेजी आई। पिछले सत्र में दो फीसदी की गिरावट के बाद आज हाजिर सोना 0.2 फीसदी बढ़कर 1,795.30 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया। वैश्विक बाजारों में चांदी की कीमत में गिरावट आई है। चांदी लगभग आठ वर्षों में उच्चतम स्तर पर है। सोमवार को चांदी की दरें 30.03 डॉलर तक जा पहुंची थीं। हाजिर चांदी आज 0.1 फीसदी की गिरावट के साथ 26.27 डॉलर प्रति औंस हो गई। विश्लेषकों का कहना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के 1.9 लाख करोड़ डॉलर के प्रोत्साहन पैकेज से सोने को निम्न स्तर पर समर्थन मिल सकता है। अन्य कीमती धातुओं में, प्लैटिनम 0.1 फीसदी की गिरावट के साथ 1,095.93 डॉलर प्रति औंस और पैलेडियम 0.6 फीसदी की बढ़त के साथ 2,297.23 डॉलर पर पहुंच गया।


2020 में 47 फीसदी घटा शुद्ध आयात 
डब्ल्यूजीसी की रिपोर्ट के अनुसार, 2020 में देश का सोने का शुद्ध आयात 47 फीसदी घटकर 344.2 टन रह गया, जो 2019 में 646.8 टन रहा था। डब्ल्यूजीसी के प्रबंध निदेशक, भारत सोमसुंदरम पीआर ने कहा कि लॉकडाउन में ढील और चरणबद्ध तरीके से स्थिति को सामान्य करने के प्रयासों से बीते साल की चौथी तिमाही में सोने का आयात सालाना आधार पर 19 फीसदी बढ़ा है। यह दबी मांग के सकारात्मक प्रभाव को दर्शाता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चौथी तिमाही में उपभोक्ता धारणा में सुधार हुआ और सोने की मांग में गिरावट कम होकर सिर्फ चार फीसदी रह गई। चौथी तिमाही में सोने की मांग 186.2 टन रही, जो इससे पिछले साल की समान तिमाही में 194.3 टन थी। सोमसुंदरम ने कहा, ‘2020 की चौथी तिमाही में त्योहारों और शादी-ब्याज के सीजन की वजह से आभूषणों की मांग 137.3 टन रही। यह पूरे साल की सबसे मजबूत तिमाही रही। निवेश की मांग में अच्छा सुधार रहा और यह आठ फीसदी बढ़कर 48.9 टन रही।’

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

सरकार ने घटाया सोने-चांदी पर आयात शुल्क 
सरकार ने सोमवार को सोने और चांदी पर आयात शुल्क में कटौती की घोषणा की। इस कदम से घरेलू बाजार में इन मूल्यवान धातुओं की कीमतों को नीचे लाने में मदद मिलेगी तथा रत्न एवं आभूषण निर्यात को बढ़ावा मिलेगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2021-22 का बजट पेश करते हुए कहा कि, ‘वर्तमान में सोना और चांदी पर 12.5 फीसदी सीमा शुल्क लगाया जाता है। चूंकि, जुलाई 2019 में शुल्क 10 फीसदी से बढ़ा दिया गया था, इसलिए कीमती धातुओं के मूल्य में तेजी से वृद्धि हुई, इसे पिछले स्तर के करीब लाने के लिए हम सोना और चांदी पर सीमा शुल्क को युक्तिसंगत बना रहे हैं।’ 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button