निकिता हत्याकांड का हुआ बड़ा खुलासा, दो साल से रची जा रही थी साजिश SIT पेश की 700 पन्नोंं की चार्जशीट

बल्लभगढ़ में हुई निकिता तोमर हत्याकांड की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) ने शुक्रवार दिन में फरीदाबाद कोर्ट में 700 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट में एसआईटी ने हत्याकांड को सोची समझी और पूर्व नियोजित साजिश कहा है। एसआईटी ने कहा है कि इस वारदात की साजिश पिछले दो साल से रची जा रही थी।

एसआईटी द्वारा तैयार 700 पेज की चार्जशीट में 60 गवाह हैं। एसआईटी ने इस चार्जशीट को 11 दिन में तैयार किया है। चार्जशीट को डिजिटल, फोरेंसिक एवं मैटेरियल एविडेंस के आधार पर अनुभवी अनुसंधान अधिकारियों द्वारा तैयार किया गया है।
गौरतलब है कि 26 अक्तूबर को परीक्षा देकर अपनी सहेली के साथ घर लौट रही छात्रा निकिता की अग्रवाल कॉलेज के गेट के बाहर मुख्य आरोपी तौसीफ ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस वारदात को अंजाम देने में उसका साथी रेहान भी शामिल था। दोनों आरोपी वारदात को अंजाम देकर कार से फरार हो गए थे।
घटना की सूचना मिलने पर थाना बल्लभगढ़ में हत्या व आर्म्स एक्ट की धाराओं के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के संज्ञान में आने पर उन्होंने एसीपी क्राइम अनिल यादव के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच की 10 टीमें आरोपियों की धरपकड़ में लगाई।

वारदात के 5 घंटे में क्राइम ब्रांच ने गोली मारने वाले मुख्य आरोपी तौसीफ को नूंह से गिरफ्तार किया था। इसके बाद कमिश्नर ओपी सिंह ने वारदात की गंभीरता को देखते हुए तुरंत एसपी क्राइम अनिल यादव के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच डीएलएफ प्रभारी अनिल कुमार सहित अनुभवी अनुसंधान अधिकारियों को शामिल कर एक एसआईटी का गठन किया।

दूसरे आरोपी रेहान को भी नूंह से गिरफ्तार किया गया। इसके साथ ही आरोपियों को हत्या की वारदात को अंजाम देने के लिए देसी कट्टा उपलब्ध कराने वाले तीसरे आरोपी अजरू को भी नूंह से गिरफ्तार किया गया व वारदात में  प्रयोग गाड़ी को भी बरामद किया गया।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया है कि पुलिस आयुक्त के द्वारा नितिका के भाई और मामा को आर्म्स लाइसेंस दिया गया इसके साथ ही परिवार के प्रत्येक सदस्य को गनमैन दिया गया है। इस केस की चश्मदीद गवाह के पिता को भी गन का लाइसेंस दिया गया है। ताकि वो सभी निर्भय होकर अपने केस की पैरवी कर सकें।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 − 13 =

Back to top button