शुक्रिया तो राहुल गांधी बोले- अन्नदाता ने झुकाया अहंकार का सिर: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के एलान के बाद अलग-अलग राजनेताओं की प्रतिक्रिया सामने आ रही है। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पीएम का  शुक्रिया अदा किया है वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने भी खुशी जताई है। उधर, कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने कहा कि देश के अन्नदाता ने सत्याग्रह से अहंकार का सिर झुका दिया। अन्याय के खिलाफ ये जीत मुबारक हो! जय हिंद, जय हिंद का किसान!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह देश के नाम संबोधन में एलान किया है कि केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस लेगी। इस पर पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने खुशी जाताई है। उन्होंने ट्वीट किया कि गुरु नानक जयंती के पवित्र अवसर पर हर पंजाबी की मांगों को मानने और तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद। साथ ही कहा कि मुझे विश्वास है कि केंद्र सरकार किसानी के विकास के लिए मिलकर काम करती रहेगी।

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने खुशी जताई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर  लिखा, ‘आज प्रकाश दिवस के दिन कितनी बड़ी खुशखबरी मिली। तीनों कानून रद्द। 700 से ज़्यादा किसान शहीद हो गए। उनकी शहादत अमर रहेगी। आने वाली पीढ़ियां याद रखेंगी कि किस तरह इस देश के किसानों ने अपनी जान की बाजी लगाकर किसानी और किसानों को बचाया था। मेरे देश के किसानों को मेरा नमन।’ केंद्र सरकार को तीन काले क़ानूनों को वापस लेने पर बाध्य करने के लिए देश के‌ किसानों को बधाई। यह किसानों की ही नहीं, अन्याय के खिलाफ लोकतंत्र की जीत है। ‘

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा,’ प्रकाश पर्व के शुभ अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने तीनों कृषि कानून वापस ले लिया है। ये उत्तरदायी सरकार का उदाहरण है जो किसानों के कल्याण और राष्ट्रीय हित में लगातार काम कर रही है और आगे भी करती रहेगी।’

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, ‘आपकी नियत और आपके बदलते हुए रुख़ पर विश्वास करना मुश्किल है। किसान की सदैव जय होगी। जय जवान, जय किसान, जय भारत। 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 4 =

Back to top button