2019 के लोकसभा चुनाव में ममता की हुकूमत खत्म करने के लिए शाह ने किया बंगाल को टारगेट

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 2019 के लोकसभा चुनाव में ममता बनर्जी का किला ढहाने की रणनीति को अमली जामा पहनाने में जुट गए हैं. पश्चिम बंगाल की 26 लोकसभा सीटों का टारगेट लेकर शाह दो दिन के दौरे पर आज पहुंच रहे हैं. पश्चिम बंगाल में बीजेपी अपनी जड़े लगातार जमाने में जुटी है. 2015 के बाद से बीजेपी राज्य में लेफ्ट और कांग्रेस को पीछे छोड़ते हुए दूसरे नंबर की पार्टी बनती जा रही है. पंचायत चुनाव के बाद अब बीजेपी लोकसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. अगले साल होने वाले चुनाव के लिए राज्य में बीजेपी ने ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया है.2019 के लोकसभा चुनाव में ममता की हुकूमत खत्म करने के लिए शाह ने किया बंगाल को टारगेट

अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की 42 में 22 सीटें बीजेपी की झोली में डालने का टारगेट रखा है. हालांकि, बंगाल बीजेपी की ओर से शाह को 26 सीटें जीतने का ब्लू प्रिंट तैयार किया गया है. जबकि 2014  पश्चिम बंगाल में फिलहाल बीजेपी की सिर्फ दो सीटें हैं. केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो आसनसोल जबकि एसएस आहलूवालिया दार्जीलिंग सीट से बीजेपी के सांसद हैं.

2014 में ममता बनर्जी की नेतृत्व वाली टीएमसी ने 34 सीटों पर जीत हासिल की थी जबकि बीजेपी की ही तरह कांग्रेस और सीपीएम के खाते में दो दो सीटें आयी थीं. पश्चिम बंगाल 2015 के विधानसभा की तर्ज पर 2019 का आम चुनाव भी कांग्रेस और लेफ्ट मिलकर चुनाव लड़ सकते हैं. ममता को आम चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस दोनों से अलग अलग दो दो हाथ करने पड़ेंगे. हालाकि विधानसभा चुनाव में इस गठबंधन को कामयाबी नहीं मिल पाई थी.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज से राज्य के दो दिवसीय दौरे पर हैं. वे पुरुलिया और कोलकता में पार्टी के नेताओं के साथ बैठक करेंगे और लोकसभा चुनाव के लिए तैयार की जा रही रणनीति पर चर्चा करेंगे. इस दौरान टारगेट 26 के ब्लूप्रिंट को लेकर विचार विमर्श करेंगे. पश्चिम बंगाल के बीजेपी राज्य अध्यक्ष दिलीप घोष ने राज्य की 26 सीटें जीतने का ब्लूप्रिंट तैयार किया है. इस रिपोर्ट को वे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को सौंपेगें. बता दें कि अमित शाह ने आजतक के कार्यक्रम ‘सीधी बात’ में राज्य की 22 सीटें जीतने का भरोसा जताया था.

बंगाल की बीजेपी यूनिट को भी शाह ने 22 सीटें जीतने का टारगेट दिया था. बावजूद इसके बीजेपी को पंचायत चुनाव में जिस तरह से बीजेपी का ग्राफ राज्य में बढ़ा है. इसे देखते हुए पार्टी ने अपने लक्ष्य को आगे बढ़ाते हुए 26 लोकसभा सीटें जीतने का लक्ष्य बनाया है. प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने दो दिन पहले ही कहा है कि राज्य में अगर चुनाव बिना किसी तरह का पक्षपात के होगा तो हम 26 सीटें जीत सकते हैं.

2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी बंगाल की जिन 26 सीटों पर फोकस कर रही हैं, उनमें से ज्यादातर सीटें नॉर्थ बंगाल, साउथ बंगाल और जंगलमहल के जनजातीय वर्चस्व वाले जिले की हैं. बीजेपी मुख्य रूप से बालुरघाट, कूच बिहार, अलीपुरद्वार, जलपाईगुड़ी, मालदा, पुरुलिया, झारग्राम, मेदिनीपुर, कृष्णानगर, हावड़ा सीट पर फोकस कर रही है.  बीजेपी ने सभी 42 लोकसभा क्षेत्रों के लिए समीक्षकों नियुक्ती कर दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नवाज और मरियम शरीफ को कोर्ट से मिली बड़ी राहत, सजा पर लगाई रोक

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बड़ी राहत मिली