वरिष्ठ अफसर और गन्ना व धान क्रय केंद्र के साथ गौ आश्रय स्थल की निगरानी: सीएम योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश में आम लोगों के साथ ही किसानों तथा गौ वंश को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अब वरिष्ठ अफसर प्रदेश में धान व गन्ना क्रय केंद्र के साथ गौ आश्रय स्थलों का निरीक्षण करेंगे।

गन्ना व धान क्रय केंद्र पर किसानों के साथ अभद्रता के कुछ मामले आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हो गए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को समीक्षा बैठक में निर्देश दिया है कि वरिष्ठ अधिकारी फील्ड में उतरें। वरिष्ठ अधिकारियों को जिला में गन्ना केंद्र के साथ धान क्रय केंद्रों का नोडल अधिकारी बनाया जाए। यह लोग जिलों में गौ आश्रय केंद्रों पर भी अपनी निगाह रखें। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारा प्रयास है कि प्रदेश में कहीं भी किसी भी प्रकार की अनियमितता न हो। किसी के साथ अन्याय न हो।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों को फील्ड में तैनात करने के निर्देश देने के साथ ही कहा है कि यह सभी लोग गन्ना केंद्र, धान क्रय केंद्रों के साथ गौ आश्रय स्थलों का औचक निरीक्षण करें। इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्थितियों पर रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने नोडल अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि जनता से संवाद करें और अनियमितताओं पर सख्त कार्रवाई करें।

वरिष्ठ अधिकारी धान खरीद केंद्र, गन्ना खरीद केंद्र और गोआश्रय स्थलों के लिए सीधे फील्ड में तैनात रहेंगे। नोडल अधिकारी इन केंद्रों के निरीक्षण की रिपोर्ट सीधा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सौंपेंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ ने साफ कहा है कि धान क्रय केंद्र, गन्ना खरीद केंद्र या गोआश्रय स्थलों पर गड़बड़ी मिलने पर जवाबदेही तय की जाएगी। इसके साथ ही लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को लखनऊ में कोविड की समीक्षा के साथ वरासत अभियान की समीक्षा करने के साथ किसान व किसान नेताओं के संगठनों से भी संवाद करेंगे। इसके साथ अयोध्या में पर्यटन विकास पर प्रस्तुतीकरण भी देखेंगे। 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + 18 =

Back to top button