बजट सत्र का दूसरा चरण ठप, भ्रष्टाचार निरोधक संशोधन बिल पारित कराने की कोशिश करेगी सरकार

- in राष्ट्रीय

संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण चल रहा है.  बुधवार को राज्यसभा में सरकार ने भ्रष्टाचार निरोधक संशोधन बिल पारित करने की पुरजोर कोशिश की, लेकिन विपक्ष के हंगामें में बिल नहीं पास हो पाया. सरकार आज एक बार फिर से बिल को पास कराने की कोशिश करेगी और सरकार इसके लिए एआईएडीएमके और टीडीपी से बात करेगी.

13 विपक्षी दलों ने मांग, दो दिन बढ़ा दे सत्र

वहीं, 13 विपक्षी दलों ने मांग की है कि सरकार दो दिन सत्र को बढ़ा दे. लेकिन उससे पहले उनकी तरफ से उठाये गये महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करवाए और जितने चाहे बिल पास करवा लें.

झारखंड में ये अद्भुद नाजारा देख लोग नहीं हटा पाए अपनी नजरे..

 

आज इसको लेकर उपसभापति और सरकार से चर्चा करेंगे विपक्ष के नेता जिससे इस पर आम सहमति बन सकें. वहीं लोकसभा में भी आज फिर एआईएडीएमके, टीडीपी, वाईएसआर कांग्रेस और बाकी विपक्षी पार्टियों के हंगामे के चलते कामकाज होने की संभावना नहीं है.

23 दिन का वेतन नही लेंगे एनडीए सांसद

बता दें कि अभी तक इस चरण में कोई कामकाज नहीं पाया है. केन्द्रीय मंत्री अनंत कुमार ने बुधवार को कहा कि सत्तारूढ एनडीए के सांसद वर्तमान बजट सत्र के उन 23 दिन का वेतन नही लेंगे. कांग्रेस और अन्य राजनीतिक दलों के विरोध प्रदर्शन के कारण संसद की कार्यवाही नहीं चल सकी.

शुक्रवार को समाप्त हो रहा है बजट सत्र का दूसरा चरण

अनंत कुमार ने संसद के दोनों सदनों में हंगामे के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि वह लोकतंत्र विरोधी राजनीति कर रही है. संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित होने से रोका जो करदाताओं के धन की आपराधिक क्षति है. उन्होंने कहा कि बीजेपी और कई सहयोगी दलों वाले एनडीए के सांसद सत्र के बाधित हिस्से के लिए अपना वेतन नहीं लेंगे. बता दें कि बजट सत्र का दूसरा चरण शुक्रवार को समाप्त हो रहा है.

 

You may also like

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने अब भी मायावती से लगा रखी है गठबंधन आस

कांग्रेस एक ओर मान रही है कि छत्तीसगढ़