‘जब तक मार नहीं पड़ेगी, आप सीख नहीं सकते’: राशिद खान

- in खेल

वानखेड़े पर खेले मुकाबले में हैदराबाद ने मुंबई को 31 रन से हराया. इस मुकाबले में हैदराबाद की जीत के हीरो रहे राशिद खान, जो इस वक्त क्रिकेट के फटाफट फॉर्मेट में नंबर वन गेंदबाज हैं और अपने इसी रूतबे के मुताबिक गेंदबाजी करते हुए उन्होंने मुंबई के खिलाफ खेले IPL मैच में 4 ओवर में सिर्फ 11 रन देकर 2 विकेट लिए. हालांकि, राशिद खान की गेंदबाजी जितनी इस मुकाबले में किफायती रही उतनी ही IPL के पिछले दो मुकाबलों में वो महंगे भी साबित हुए. IPL के पिछले 2 मैचों में राशिद ने 104 रन लुटाए. राशिद ने किंग्स इलेवन के खिलाफ मैच में 55 रन दिए तो वहीं चेन्नई के खिलाफ 49 रन लुटाए. इन मैचों में राशिद के महंगा साबित होने की वजह रहे लेफ्ट हैंडर बैट्समैन, जिनके लिए राशिद की लेग स्पिन ऑफ स्पिन की तरह थी.

राशिद का लेफ्ट एंड राइट

मुंबई के खिलाफ मुकाबले से पहले लेफ्ट हैंडर के खिलाफ राशिद ने 12.45 की इकॉनोमी से रन लुटाए और कोई विकेट नहीं लिया. जबकि, दाएं हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ उनकी इकॉनोमी 6.97 की रही और उन्होंने 4 विकेट चटकाए थे. लेकिन राशिद की गेंदबाजी का यही आंकड़ा मुंबई के खिलाफ मैच के बाद थोड़ा बदल जाता है. लेफ्ट हैंडर के खिलाफ राशिद की इकॉनोमी अब थोड़ी सुधरकर 11.33 की हो जाती है और उनके खाते में 1 विकेट भी दर्ज हो जाता है जो उन्होंने मुंबई के बल्लेबाज क्रुणाल पांड्या का लिया है. वहीं दाएं हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ 5.87 की इकॉनोमी से गेंदबाजी करते हुए उनके खाते में 5 विकेट आ चुके हैं.

मुंबई की टीम से 3 लेफ्ट हैंडर खेल रहे थे लेकिन 2 पावरप्ले में ही आउट हो गए. ऐसे में जब 10वें ओवर में राशिद को गेंद थमाई गई तो उन्होंने अपने ओवर की 5वीं गेंद पर बाएं हाथ के बल्लेबाज क्रुणाल पांड्या को चलता कर दिया.

अश्विन के कायल हुए सचिन, मयंक को माना सीजन का स्टार

‘मार खाकर सीखा लेफ्ट हैंडर को फंसाना’

मुंबई के खिलाफ हैदराबाद की जीत की स्क्रिप्ट लिखने के बाद राशिद ने कहा कि पिछले 2 मुकाबलों में उन्होंने काफी फुल डिलिवरी फेंकी जिस वजह से उन्हें मार पड़ी. रैना ने राशिद की 9 गेंदें खेली और 24 रन जड़े तो वहीं गेल ने उनकी 16 गेंदों पर 42 रन ठोके. बैक टू बैक इन दो मैचों में मार पड़ने के बाद राशिद ने कहा,” जब तक आपको मार नहीं पड़ेगी तब तक आप सीख नहीं सकते. पिछले दो मुकाबलों ने मुझे काफी कुछ सिखाया है.”

राशिद का ये सबक ही है जो मुंबई के खिलाफ कहर बनकर बरपा और अपनी जोरदार वापसी की स्क्रिप्ट लिखते हुए वो मैच के हीरो बनकर उभरे. हालांकि, अपनी इस कमाल की वापसी का श्रेय राशिद टीम के बॉलिंग कोच मुथैया मुरलीधरण को भी देते हैं. राशिद ने कहा, ” मुबई के खिलाफ मुकाबले से पहले मुरली ने मुझसे कहा था जो हुआ उसे भूल जाओ, दिमाग शांत रखो और अपने खेल का मजा लो.”

 
 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पैदल चाल प्रतियोगिता 2 अक्तूबर को

राज्यमंत्री स्वाती सिंह सुबह 7 बजे करेंगी पैदल