बारिश ने रद्द किया सेमीफाइनल मैच, भारत T-20 महिला वर्ल्ड कप के फाइनल मे

ऑस्ट्रेलिया के सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जाने वाले सेमीफाइनल मुकाबला बारिश के कारण रद्द हो गया है. इसी के साथ टीम इंडिया पहली बार टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंच गई है.

गुरुवार को भारतीय महिला क्रिकेट टीम सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर होने वाले आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप के पहले सेमीफाइनल में इंग्लैंड से भिड़ने के लिए तैयार है. लेकिन बारिश के कारण मैच के टॉस में देरी हो रही है. आईसीसी के नियमों के मुताबिक मैच में निर्णय के लिए 10-10 ओवर के मैच का होना अनिवार्य है. ऐसे में सुबह 11:06 बजे तक टॉस का होना अनिवार्य है. अगर 11:06 बजे तक टॉस नहीं हो पाता तो आईसीसी के तय मानकों के आधार पर मैच के परिणाम पर फैसला किया जाएगा.

ICC ने रिजर्व डे को ठुकराया

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के उस अनुरोध को ठुकरा दिया है, जिसमें उसने महिला टी-20 विश्व कप में सेमीफाइनल के लिए रिजर्व डे रखने का अनुरोध किया था. आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप में गुरुवार को दो सेमीफाइनल मुकाबले खेले जाएंगे. पहले सेमीफाइनल में पहली बार फाइनल में जगह बनाने की कोशिशों में जुटी भारतीय महिला क्रिकेट टीम का सामना इंग्लैंड से, जबकि दूसरे सेमीफाइनल में मेजबान ऑस्ट्रेलिया का सामना दक्षिण अफ्रीका से होगा.

बिना खेले फाइनल में पहुंच जाएगी टीम इंडिया

गुरुवार को दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले के दौरान भी बारिश की आशंक जताई गई है और अगर बारिश के कारण दोनों सेमीफाइनल मुकाबले रद्द होते हैं तो फिर ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड फाइनल में जगह बनाने से चूक जाएंगी. ऐसे में अपने-अपने ग्रुप में टॉप पर रहने के कारण भारत और दक्षिण अफ्रीका फाइनल में पहुंच जाएंगी.


भारतीय टीम ग्रुप-ए में अपने सभी चारों मैच जीतकर 8 अंकों के साथ शीर्ष पर रहते हुए सेमीफाइनल में पहुंची है, जहां अब उसके सामने एक ऐसी प्रतिद्वंद्वी खड़ी है, जिससे उसे अपनी पिछली कई हार का बदला चुकता करना है.

इंग्लैंड से हिसाब होगा बराबर!

टी-20 विश्व कप में भारत को इंग्लैंड के साथ अपने कई हिसाब बराबर करने है. भारतीय टीम को 2009 के टी-20 विश्व कप में ग्रुप-चरण में ही इंग्लैंड से 10 विकेटों से करारी हार का सामना करना पड़ा था. इंग्लैंड ने उसी साल चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया था.

भारतीय टीम को 2010 के संस्करण में विभिन्न ग्रुप में होने के कारण भारत को इंग्लैंड से खेलने का मौका नहीं मिला था. लेकिन सेमीफाइनल में भारत को ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा था.

इसके बाद फिर से 2012 में इंग्लैंड के हाथों ही 9 विकेट से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी. 2014 के ग्रुप-चरण मैच में भी भारत को इंग्लैंड के हाथों ही पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा था. इसके अलावा 2018 के संस्करण में भी इंग्लैंड से उसे सेमीफाइल में आठ विकेटों से करारी हार झेलनी पड़ी थी.

इसे भी पढ़ें: जानिए IPL पर कोरोना वायरस क्या होगा असर? सामने आयी बड़ी रिपोर्ट

हालांकि हाल के समय में इस विश्व कप के शुरू होने से पहले हुई त्रिकोणीय सीरीज में भारतीय टीम इंग्लैंड को हरा चुकी है और अब वह इसी बढ़े हुए मनोबल के साथ सेमीफाइल में पूर्व चैंपियन इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबले में उतरेगी.

टूर्नामेंट में अब तक भारतीय टीम की ओपनर शेफाली वर्मा कमाल की बल्लेबाजी कर रही हैं और उन्होंने पिछले चार मैचों में अब तक 161 रन बनाए हैं. 16 साल की शेफाली सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में तीसरे नंबर पर है.

शेफाली को दीप्ति शर्मा और जेम्मिाह रोड्रिगेज का अभी अच्छा साथ मिल रहा है. मध्यक्रम में वेदा कृष्णामूर्ति ने फिर से अपनी फॉर्म पा ली है. वहीं, शिखा पांडे और राधा यादव ने भी पिछले मैच में 23 गेंदों पर 28 रन की साझेदारी करके भारत को 133 रनों के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया था.

भारत को अगर इंग्लैंड से पार पाना है तो उसके लिए पहले छह ओवर काफी अहम होंगे. भारत को अगर पहली बार फाइनल में जगह बनानी है तो उसके कप्तान हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना को लंबे समय तक क्रीज पर टिकना होगाा.

गेंदबाजी में इस समय पूनम यादव शानदार गेंदबाजी कर रही हैं और वह अब तक टूर्नामेंट में नौ विकेट झटक चुकी हैं.

दूसरी तरफ पूर्व चैंपियन इंग्लैंड के लिए उसकी बल्लेबाज नटाली शिवर बेहतरीन फॉर्म में चल रही है. वह चार मैचों में अब तक 202 रन बना चुकी हैं.

भारतीय गेंदबाजों को अगर इंग्लैंड को बड़े स्कोर से रोकना है तो उसे नटाली की बल्लेबाज पर रोक लगानी होगी.

सेमीफाइनल में हालांकि बारिश की संभावना जताई गई है और यहां पर मैच के दिन 80 प्रतिशत तक बारिश होने का अनुमान लगाया है.

ऐसी परिस्थितियों में अगर मैच रद् भी होता है तो भारत और दक्षिण अफ्रीका के फाइनल में पहुंचने की संभावना है. फाइनल के लिए पहले ही 50,000 टिकटें बिक चुकी हैं.

टीमें इस प्रकार हैं –

भारत: हरमनप्रीत कौर (कप्तान), जेमिमा रोड्रिग्स, शेफाली वर्मा, स्मृति मंधाना, शिखा पांडे, पूनम यादव, दीप्ति शर्मा, वेदा कृष्णमूर्ति, तानिया भाटिया, राधा यादव, अरुंधति रेड्डी, हरलीन देओल, राजेश्वरी गायकवाड़, ऋचा घोष और पूजा वस्त्राकर.

इंग्लैंड: हीथर नाइट (कप्तान), टैमी ब्युमोंट, कैथरीन ब्रंट, केट क्रास, फ्रेया डेविस, सोफी एकलेस्टोन, जॉर्जिया एल्विस, सारा ग्लेन, एमी जोन्स, नताली स्किवर, आन्या श्रबसोल, मैडी विलियर्स, फ्रेन विल्सन, लॉरेन विनफील्ड और डेनी वाट.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × three =

Back to top button