नमो ऐप पर राहुल का तंज भरा ट्वीट, कहा-भाजपा ने…

- in राष्ट्रीय

पीएम मोदी के नरेंद्र मोदी ऐप को लेकर मचे घमासान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों के बाद अब भाजपा ने पलटवार करते हुए निशाना साधा है। भाजपा ने कहा है कि राहुल गांधी और कांग्रेस के पास टेक्नोलॉजी का जीरो ज्ञान है।

भाजपा ने कहा है कि कैम्ब्रिज एनालिटिका के कांग्रेस से कनेक्शन के मामले से ध्यान हटाने के लिए ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी नमो ऐप का सहारा ले रहे हैं। आपको बता दें कि कांग्रेस ने नमो ऐप की मदद से भारतीयों के निजी डाटा को लीक करने का आरोप लगाया है। राहुल गांधी ने एक ट्वीट में कहा था कि मैं नरेंद्र मोदी, आपके सारे डाटा अमेरिकी कंपनियों के दोस्तों को देता हूं।

रविवार को राहुल का यह ट्वीट सामने आने के बाद भाजपा ने कई ट्वीट कर इसका जवाब दिया। भाजपा ने कहा कि राहुल और उनकी पार्टी जनता को टेक्नोलॉजी से डराने की कोशिश कर रही है जबकि खुद अपने ‘ब्रह्रास्त्र’ कैम्ब्रिज एनालिटिका का इस्तेमाल कर डाटा चोरी करने में लगी हुई। भाजपा ने ट्वीट में लिखा कि नरेंद्र मोदी ऐप उनके लाखों प्रशंसकों और पार्टी कार्यकर्ताओं को सीधे उनसे संपर्क का मौका देता है। 

ये टीचर सिर्फ एक बच्चे को पढ़ाने के लिए रोजाना पार करता है पहाड़

 

भाजपा ने दावा किया है कि राहुल गांधी द्वारा डाटा चोरी का आरोप झूठा है और डाटा का इस्तेमाल केवल थर्ड पार्टी एनालिटिक्स के लिए होता है। ठीक वैसे ही जैसे गूगल एनालिटिक्स। यूजर्स को बेहतर और लक्षित कंटेंट उपलब्ध कराने के लिए ऐसा किया जाता है। भाजपा ने कहा है कि इसकी मदद से यूजर्स की भाषा और रुचि के हिसाब से उन्हें ऐप पर कंटेंट देना संभव होता है।

भाजपा ने लिखा है कि नरेंद्र मोदी ऐप एक यूनिक ऐप है जो अधिकतर दूसरे एप्स के इतर यूजर्स को गेस्ट मोड में भी ऐप इस्तेमाल की इजाजत देता है। राहुल पर पलटवार के दौरान भाजपा ने यह भी दावा किया है कि जिस समय नमो ऐप के खिलाफ कैंपेन चलाया जा रहा था, यह और अधिक डाउनलोड हुआ। भाजपा ने इसके लिए एक स्क्रीनशॉट शेयर किया है जिसमें ऐप इंस्टॉल करने वाले यूजर्स को कैंपेन के दौरान बढ़ते दिखाया गया है। आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी ऐप एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है और अब तक 50 लाख से अधिक बार डाउनलोड हो चुका है।

You may also like

बलात्कार मामलों में अब होगी त्वरित कार्रवाई, पुलिस को मिलेगी यह विशेष किट

देश में पुलिस थानों को बलात्कार के मामलों की जांच