प्रेसिडेंट पुतिन ने पीएम मोदी को किया आमंत्रित, इस बार कुछ ऐसी होगी रूस यात्रा

सोची: रूस के एक बार फिर से प्रेसिडेंट बने ब्लादीमीर पुतिन ने दो हफ्ते के अंदर पीएम नरेन्द्र मोदी को रूस आने के लिए आमंत्रित किया है. रूस में भारतीय राजनयिक पंजक सरन के मुताबिक, पीएम मोदी की इस बार की रूस यात्रा सबसे अलग होगी, क्योंकि पुतिन ने उन्हें आमंतत्रित किया है. सरन ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी का रूस में पहुंचने पर एयरपोर्ट में स्थानीय गणमान्य लोग स्वागत करेंग. इसके बाद वे पुतिन के निवास स्थल पर जाएंगे. इस साल के अंत में शिखर सम्मेलन के लिए पुतिन भी भारत आएंगे.प्रेसिडेंट पुतिन ने पीएम मोदी को किया आमंत्रित, इस बार कुछ ऐसी होगी रूस यात्रा

भारतीय राजदूत ने कहा, ” प्रधानमंत्री मोदी और प्रेसिडेंट पुतिन के बीच ये बहुत महत्वपूर्ण और अलग तरह की मीटिंग होगी. अंतर ये है कि प्रेसिडेंट पुतिन ने पीएम मोदी को अपने यहां मुलाकात के लिए आमंत्रित किया है और चौथी बार रूस के राष्ट्रपति बनने के बाद लगभग दो सप्ताह के भीतर विभिन्न मु्द्दों पर चर्चा की’. बता दें कि पुतिन ने पिछले दस दिनों में विश्व के कई नेताओं से मुलाकात की है.

राजदूत सरन ने कहा, विभिन्न मुद्दों पर उनके बीच चर्चा करने और व्यक्तिगत केमिस्ट्री के लिए ये एक शानदार मौका है. दोनों नेता वैश्विक परिदृश्य में आपसी सहयोग को एक दूसरे की अर्थव्यवस्था को बेहतर करने के लिए विचार विमर्श करेंगे.

राजदूत ने कहा 21 मई को रूस के सोची शहर में प्रधानमंत्री और रूसी प्रेसिडेंट के बीच एक अनौपचारिक बैठक तय है. पीएम की यह यात्रा एक महीने बाद होने जा रही है. इससे पहले उन्होंने हुबेई प्रांत में वुहान में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ अनौपचारिक बैठक की थी. बता दें कि सोची अपने शानदार बुनियादी ढांचे के कारण रूस में एक महत्वपूर्ण जगह है.

इन पर चर्चा

– प्रधान मंत्री मोदी और पुतिन ईरान परमाणु समझौते को अमेरिका के हटने के बाद की स्थिति पर भी चर्चा कर सकते हैं
– आतंकवाद से भारत और रूस आईएसआईएस के खतरे और अफगानिस्तान और सीरिया में स्थिति पर भी चर्चा करेंगे
– तीसरे देश में परमाणु सहयोग उनकी बातचीत में भी शामिल हो सकता है
– परमाणु क्षेत्र में भारत और रूस के बीच तीसरे देशों में संभव सहयोग पर विचार विमर्श हो सकता
– बांग्लादेश में सरकार रूपपुर परमाणु संयंत्र का निर्माण कर रही है.
– रूसी और भारतीय विशेषज्ञ मिलकर परमाणु संयंत्र के लिए काम कर सकते हैं

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

#MEETOO: एजे अकबर और प्रिया रमानी के मामले में सुनवाई टली

पीछले कई दिनों से मीटू अभियान के तहत