जोरदार चल रही हैं तैयारी, दीपो से जगमगा कर नया रिकॉर्ड बनाएगी रामनगरी

रामनगरी में छोटी दीवाली पर दिव्य दीपोत्सव की रूपरेखा तैयार हो गई है। इस बार अयोध्या में तीन दिवसीय दीपोत्सव होगा और 5.50 लाख दीप जगमगा कर नया रिकॉर्ड बनाने की तैयारी है। कोविड-19 के प्रोटोकॉल के तहत सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दीपोत्सव का आयोजन होगा और सभी कार्यक्रमों का लाइव प्रसारण किया जाएगा। कोविड-19 के चलते इस बार के दीपोत्सव में आम जनमानस को कोरोना महामारी से बचाने के लिए बहुत ही सीमित संख्या में अयोध्या आने की अनुमति प्रदान की जाएगी। प्रधानमंत्री मोदी ने देश के नाम संदेश में कोरोना से बचाव को लेकर जो भी निर्देश दिए थे उन सबका पूरी तरह से पालन कराया जाएगा।

कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित तैयारी बैठक की अध्यक्षता करते हुए मंडलायुक्त एमपी अग्रवाल ने बताया कि इस बार भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम 11 नवंबर से 13 नवंबर तक सिर्फ तीन दिवसीय होगा। इस बार मुख्य कार्यक्रम के एक दिन पूर्व 12 नवंबर को साकेत डिग्री कॉलेज से रामायण काल पर आधारित 11 झांकियां निकाली जाएंगी जो रामकथा पार्क तक जाएंगी। शोभायात्रा में निकाली जा रहीं झांकियों में सचित्र पात्र होंगे जो रामायण काल में घटित घटनाओं का दृश्य प्रस्तुत करेंगे।

बैठक में जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने बताया कि 13 नवंबर को मुख्य कार्यक्रम रामकथा पार्क, राम की पैड़ी, नयाघाट, सरयू आरती स्थलों पर होगा। रामकथा पार्क में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि की ओर से श्रीराम सीता, लक्ष्मण  के स्वरूपों की आरती के साथ उनका विधि विधान से राज्याभिषेक किया जाएगा। इस दौरान हेलीकाॅप्टर से पुष्पवर्षा होगी। शाम को सरयू आरती के पश्चात भजन संध्या स्थल पर रामलीला का आयोजन तथा राम की पैड़ी पर दीप प्रज्वलन का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है।

दीप प्रज्जवलन के दौरान राम की पैड़ी पर राम दरबार सजाया जाएगा। कार्यक्रम और भव्य बनाने पर शासन एवं जिले स्तर पर निरन्तर विचार-विर्मश किया जा रहा है। नगर आयुक्त विशाल सिंह ने बैठक में बताया कि पिछली बार दीपोत्सव में 3.50 लाख दीप जलाने का संकल्प लिया था। लेकिन संस्थाओं के शामिल होने से दीपों की संख्या 5.50 पहुंच गई थी। इस बार दीपोत्सव पर प्रशासन ने 5.50 लाख दीप जलाने का संकल्प लिया है। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने जिला पंचायत राज अधिकारी को अयोध्या से सटे ग्रामीण क्षेत्रों जहां नगर निगम नहीं है की सफाई के लिए टीमें लगाने के निर्देश दिए हैं। अपर जिलाधिकारी नगर वैभव शर्मा, सहायक पुलिस अधीक्षक निपुण अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक नगर विजय पाल सिंह, संस्कृति विभाग से वाईपी सिंह, उप निदेशक, सूचना डॉ. मुरलीधर सिंह सहित कई अधिकारी मौजूद रहे।

बिना मास्क के प्रवेश की नहीं होगी अनुमति
दीपोत्सव में बिना मास्क के किसी को भी प्रवेश की अनुमति नही होगी। हर कार्यक्रम  स्थल पर कोविड हेल्प-डेस्क बनाई जाएगी। जहां पर्याप्त मात्रा में सैनिटाइजर व मास्क उपलब्ध रहेंगे।

परिचय पत्र से ही प्रवेश कर पाएंगे लोग
उपपुलिस महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था तथा कोविड-19 की दृष्टिकोण से वही लोग प्रवेश कर सकेंगे जिनके पास जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गये परिचय पत्र होगे। उन्होंने बताया कि अयोध्या आने वाले हर मार्ग पर हर तरीके की चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी।

सरकार ने सिर्फ तीन दिन के कार्यक्रम की दी अनुमति
कोविड-19 को देखते हुए शासन ने पांच दिवसीय दीपोत्सव को घटाकर सिर्फ तीन दिवसीय कर दिया है। इस बार दीपोत्सव 11 से 13 नवंबर के बीच होगा। दीपोत्सव कार्यक्रम में भीड़भाड़ की इजाजत नहीं होगी।

 

 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button