बड़ा खुलासा: प्रद्युम्न मर्डर केस में पुलिस ने सबूतों के साथ की थी छेड़छाड़, CBI सूत्रों के मुताबिक…

प्रद्युम्न मर्डर केस में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। CBI सूत्रों के मुताबिक जांच में पता चला है कि गुरुग्राम पुलिस ने प्रद्युम्न मर्डर केस में सबूतों के साथ छेड़छाड़ की थी। पुलिस ने सबूत मिटाने की भी कोशिश की थी। प्रद्युम्न मर्डर केस

सीबीआई जांच में ये बात सामने आई है कि पुलिस ने शुरुआती छानबीन के दौरान लापरवाही और जल्दबाजी की। सीबीआई जांच में ये पता चला है कि जल्द से जल्द केस सुलझाने के चक्कर में गुरुग्राम पुलिस ने बस कंडक्टर अशोक कुमार को आरोपी बना दिया था। यही नहीं उसके पास से हथियार पाए जाने का भी दावा किया।

इसे भी पढ़े: जन्म के बाद बच्ची का गला घोटकर कचरे के डिब्बे में फेका

अब सीबीआई सूत्रों के हवाले से खबर आर रही है कि हत्या में इस्तेमाल क‌िया गया चाकू आरोपी छात्र ने सब्जी मंडी से खरीदा था। इस तरह से गुरुग्राम पुलिस द्वारा किया गया दावा कि चाकू अशोक ने आगरा से खरीदा था और बस की टूल किट से लेकर स्कूल में गया था यह आधारहीन है।

इसके साथ ही उस वक्त मीडिया के सामने अशोक द्वारा गुनाह कबूल किए जाने को लेकर भी अब कहा जा रहा है कि उसने पुलिस के भारी दबाव में आकर ऐसा किया था।

Facebook Comments

You may also like

कई दिन तक लोगों को नजर न आई पत्नी तो सामने आया ये हैरान कर देने वाली सच्चाई

घटना के बाद शनिवार सुबह मौके पर पहुंचे