Home > राज्य > बिहार > बिहार: अस्‍पताल में दवा की जगह मिला ऐसा सामान, देख कर दंग रह गई पुलिस

बिहार: अस्‍पताल में दवा की जगह मिला ऐसा सामान, देख कर दंग रह गई पुलिस

पूर्वी चंपारण। बिहार में शराबबंदी के बाद पूर्वी चंपारण जिले के सुगौली प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से शराब का अवैध धंधा संचालित किए जाने का खुलासा हुआ है। यह शायद सूबे की पहली घटना है, जिसमें अस्पताल से शराब का कारोबार पकड़ में आया है। पुलिस ने सुगौली पीएचसी प्रभारी के आवास से कार्टन में रखी 147 बोतल राॅयल स्टेग शराब बरामद किया है। हालांकि, इस दौरान कारोबारी सह पीएचसी का लैब टेक्निशियन बीके सिंह फरार होने में सफल रहा।बिहार: अस्‍पताल में दवा की जगह मिला ऐसा सामान, देख कर दंग रह गई पुलिस

बताया गया है कि सुगौली थानाध्यक्ष सुनील कुमार को गुप्त सूचना मिली कि पीएचसी परिसर स्थित प्रभारी के आवास में भारी मात्रा में विदेशी शराब का भंडारण किया गया है। यहां से कारोबार हो रहा। जिसका संचालन रामगढ़वा में पदस्थापित पटना निवासी बीके सिंह करता है।

थानाध्यक्ष ने गोपनीय तौर पर छापे में प्रखंड विकास पदाधिकारी रमण सिन्हा, पुलिस निरीक्षक संजय कुमार सुमन व अस्पताल के चिकित्सक डा. समीर सिन्हा को शामिल किया। छापे के दौरान अलग कार्टन में रखी 147 बोतल रायल स्टेग शराब बरामद की गई। जबकि कारोबारी बीके सिंह पीछे की दीवाल फांदकर भाग निकला।

बीके सिंह व धंधे से जुड़े लोगों की खोज तेज

शराब जब्ती के बाद पुलिस कारोबारी सह स्वास्थ्यकर्मी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। वहीं इस धंधे में लिप्त लोगों की पहचान की जा रही है। पता यह लगाया जा रहा है कि कैसे पीएचसी प्रभारी के आवास की चाबी बीके सिंह के पास थी। बता दें कि यहां के प्रभारी सीके चौधरी सेवानिवृत हो गए हैं। ऐसे में बीके सिंह उनके आवास पर कब्जा कर शराब का कारोबार चला रहा था।

शराब का कारोबार बीके सिंह संचालित कर रहा था। चिकित्सा पदाधिकारी डा. सीके चौधरी के सेवानिवृत होने के बाद वहीं उस आवास में रह रहा था। उसकी खोज में छापेमारी की जा रही है। अस्पताल के सभी लोग बीके सिंह को लैब टेक्निशियन समझ रहे थे। सोमवार की रात छापे के बाद उसका चेहरा सामने आया। पूर्व के चिकित्सा प्रभारी के आवास की चाबी उसी के पास थी। वह छापे के वक्त भी उसी आवास में था। लेकिन, वहां से भाग निकलने में कामयाब रहा।

Loading...

Check Also

पीडीपी-कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनाने की कोशिश, 2002 और 2007 में भी हुआ था गठजोड़

जम्मू-कश्मीर की अप्रत्याशित राजनीति में एक नई सुगबुगाहट शुरू हुई है। रियासत में पीडीपी-कांग्रेस गठबंधन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com