दिल्ली-NCR में जहरीली हवा से लोगों का बुरा हाल, सांस लेना हुआ मुश्किल

दिल्ली-एनसीआर में वायुमंडल में प्रदूषकों के बढ़ने के साथ राजधानी में वायु की गुणवत्ता बिगड़ गई है। वातावरण में धुंध और वायु प्रदूषण बढ़ने का असर अब लोगों पर साफ दिखने लगा है।

धुंध के कारण जहां विजिबिलिटी काफी घट गई है, वहीं लोगों को सुबह मॉर्निंग वॉक और साइकिलिंग के दौरान सांस लेने में परेशानी हो रही है। शनिवार सुबह अक्षरधाम से लेकर इंडिया गेट और मयूर विहार से लेकर डीएनडी फ्लाईओवर तक घनी धुंध छाई हुई देखी गई।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के अनुसार, ITO पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 338 (बहुत ही खराब श्रेणी) में दर्ज किया गया है। वहीं पटपड़गंज में भी AQI 359 दर्ज किया गया। शनिवार सुबह साइकिलिंग के लिए निकले अमित चावला ने बताया कि पिछले एक-डेढ़ हफ्ते से साइकिल चलाते समय सांस लेने में दिक्कत हो रही है, पहले ऐसा नहीं होता था।

एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा कि सरकार प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए प्रयास कर रही है, लेकिन नागरिकों को भी योगदान देने और सरकार द्वारा किए जा रहे उपायों का समर्थन करने की आवश्यकता है।

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण कमेटी (DPCC) के वायु प्रदूषण सूचकांक डेटा के अनुसार, अलीपुर, मुंडका और वजीरपुर में हालात ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गए हैं।

दिल्ली में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए किए जा रहे उपायों के तहत पानी के छिड़काव के लिए आज आईटीओ सहित राजधानी में कई स्थानों पर एंटी-स्मॉग गन तैनात की गई हैं।

उल्लेखनीय है कि 0 और 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 ‘गंभीर’ माना जाता है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button